संजीवनी टुडे

महिलाएं इन चीजों से बनाए रखे दुरी वरना हो सकती है इस घातक बीमारी का शिकार

संजीवनी टुडे 16-06-2019 02:20:00

औरतों के दो अण्डाशयों (Ovaries) होती हैं। जब किसी एक ओवरी में द्रव से भरी हुई थैली उत्पन्न हो जाती है तो उसे ओवेरियन सिस्ट कहा जाता हैं


ओवरियन सिस्ट

औरतों के दो अण्डाशयों (Ovaries) होती हैं। जब किसी एक ओवरी में द्रव से भरी हुई थैली उत्पन्न हो जाती है तो उसे ओवेरियन सिस्ट कहा जाता हैं। 

हार्मोन इम्बैलेंस का इसका कारण
 

बांझपन और कैंसर तक का खतरा पैदा करने वाली यह बीमारी हार्मोन्स लेवल बिगड़ने के कारण होती है। इतना ही नहीं, कई बार इसके चलते महिला को टाइप-2 डायबिटीज और हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या भी हो जाती है। गर्भधारण करने वाली महिलाओं को ही इसका खतरा ज्यादा होता है। 


लक्षण

अनियमित पीरियड्स
अनचाहे बाल
वजन का लगातार बढ़ना
उल्टी होना
पैर और पीठ में दर्द होना
पेशाब से खून आना

फूड्स जो बनते हैं इसका कारण

रेड मीट

रेड मीट यानि मटन में सैचुरेटेड फैट होता है, जो एस्ट्रोजन के स्तर को बढ़ाकर इस बीमारी का खतरा पैदा करते हैं। इससे PCOS होने की संभवाना भी अधिक होती है।

सफेद चीनी

इससे अधिक सेवन शरीर में इंसुलन लेवल को बिगाड़ देता है, जो इस बीमारी को जन्म देता है। ऐसे में अपनी डाइट में कम सेकम चीनी को शामिल करें।

प्रोसेस्ड फूड्स

प्रोसेड फूड्स से भी ओवरी में सिस्ट बनने की संभावना अधिक होती है। इसमें मौजूद कैमिकल्स, प्रसवेटिव और इडेटिड चीजों के कारण इससे शरीर में इंसुलिन का स्तर बढ़ता है, जिससे ओवरी सिट्स का खतरा पैदा होता है।

कॉफी

ज्यादा मात्रा में कॉफी का सेवन सेहत के लिए हानिकारक है। इसमें मौजूद कैफीन से शरीर में एस्ट्रोजन का स्तर बढ़ जाता है, जिससे पीरियड्स के साथ महिलाओं की प्रजनन क्षमता भी प्रभावित होती है।

शराब

शराब का सेवन करने से ना सिर्फ एस्ट्रोजन का स्तर बढ़ता है बल्कि इससे हार्मोन्स भी इम्बैलेंस हो जाते हैं, जिससे सिस्ट बनने का खतरा बढ़ जाता है।

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166 

 

More From lifestyle

Trending Now
Recommended