संजीवनी टुडे

लगातार ईयरफोन का इस्तेमाल आपको पड़ सकता है महंगा, आ सकते हैं इन बिमारियों की चपेट में

संजीवनी टुडे 19-08-2019 14:05:16

अगर कोई व्यक्ति रोजाना एक घंटे से ज्यादा समय तक 80 डेसीबेल्स से ज्यादा तेज आवाज में संगीत सुनता है तो उसकी सुनने की क्षमता पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है


डेस्क। आपने कई लोगो को देखा होगा की खाली वक्त गुजारने के लिए कान पर ईयरफोन लगाकर घंटों गाने सुनते रहते हैं। हो सकता है आप भी उन लोगों में शामिल हों, लेकिन क्या आप जानते हैं कि लगातार कानों में ईयरफोन लगाना सेहत के लिए घातक साबित हो सकता है। दरअसल, ईयरफोन या हेडफोन का ज्यादा देर तक इस्तेमाल करने से आपको कानों से संबंधित समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। 

यह खबर भी पढ़ें: चुटकी भर हींग पुरुषों के लिए किसी वरदान से कम नहीं, जानें इसके अचूक फायदे

एक अध्ययन के अनुसार, अगर कोई व्यक्ति रोजाना एक घंटे से ज्यादा समय तक 80 डेसीबेल्स से ज्यादा तेज आवाज में संगीत सुनता है तो उसकी सुनने की क्षमता पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है. इससे बहरेपन की नौबत तक आ सकती है। अगर आप भी खाली वक्त गुजारने के लिए कान पर ईयरफोन लगाकर घंटों गाने सुनते रहते हैं तो सतर्क हो जाएं। क्योंकि यह आपके कानों के साथ-साथ शरीर को भी नुकसान पहुंचा सकता हैं। चलिए जानते हैं लगातार ईयरफोन का इस्तेमाल करने से किस तरह की समस्याएं हो सकती हैं 

zg
सुनने में परेशानी: एक स्टडी के अनुसार यदि कोई व्यक्ति दो घंटे से ज्यादा समय के लिए 90 डेसिबल से अधिक आवाज में गाने सुनता है, तो वो बहरेपन का शिकार होने के अलावा कई बड़ी बीमारियों की चपेट में आ सकता है। तकरीबन हर ईयरफोन में हाई डेसीबल वेव्स होते हैं, जिसके चलते आप अपनी सुनने की क्षमता को खो सकते हैं।ईयरफोन के लगातार इस्तेमाल से सुनने की क्षमता 40-50 डेसीबल तक कम हो जाती है। इससे दूर की आवाज सुनने में परेशानी होने लगती है और बहरेपन की नौबत तक आ सकती है।

कान सुन्न होना: लंबे समय तक ईयरफोन से गाने सुनने पर व्यक्ति के कान सुन्न हो सकते हैं। ईयरफोन से निकलने वाली विद्युत चुंबकीय तरंगे दिमाग के सेल्स को काफी क्षति पहुंचाती हैं. यह बाहरी भाग के कान के परदे को नुकसान पहुंचाने के साथ-साथ अंदरूनी हेयरसेल्स को भी तकलीफ पहुंचाता है़. इस समस्या को नजअंदाज करने से कानों में अनेक प्रकार की समस्याएं हो सकती हैं। 

zg

कानों में इंफेक्शन: कान 65 डेसिबल तक की ध्वनि को सहन कर सकता है, लेकिन अगर 40 घंटे से ज्यादा देर तक ईयरफोन पर 90 डेसिबल की ध्वनि सुनी जाए तो कान की नसें पूरी तरह से डेड हो सकती हैं  लंबे समय तक ईयरफोन लगाकर गाना सुनने से आपको कान का इंफेक्शन हो सकता है। अगर आप किसी के साथ अपना ईयरफोन शेयर करते हैं तो उसे सेनिटाइजर से साफ जरूर करें। 

बीमारियों का खतरा: लगातार ईयरफोन लगाकर गाना सुनने से सुनने की क्षमता तो कम होने ही लगती है। इसके साथ ही दिल की बीमारियों, कैंसर, कान में छन-छन की आवाज होना, चक्कर आना, सनसनाहट,  कान दर्द जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं। 

दिमाग पर असर: लगातार हेडफोन या ईयरफोन का इस्तेमाल करने से मानसिक स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। इसके साथ ही कई बार दिमाग के साथ दो चीजों पर ध्यान देने की क्षमता में कमी देखी जाती है। इससे सिरदर्द और अनिद्रा की समस्या हो सकती है। 

zg

अगर आप भी कान से जुड़ी परेशानियों से बचने चाहते हैं तो ईयरफोन का इस्तेमाल जरूरत पड़ने पर करें।  स्ते ईयरफोन की जगह अच्छी क्वालिटी के ईयरफोन्स का ही इस्तेमाल करें।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

 

More From lifestyle

Trending Now
Recommended