संजीवनी टुडे

कई बीमारियों की चपेट से बचने के लिए तेज पत्ते का ऐसे इस्तेमाल

संजीवनी टुडे 23-08-2019 15:02:57

तेजपत्ते का इस्तेमाल ज्यादातर भारतीय पकवानों में किया जाता है लेकिन तेजपत्ता सिर्फ सब्जी का स्वाद बढ़ाने के काम ही नहीं बल्कि शरीर को कई तरह के रोगों से मुक्त रखने का काम करता है।


डेस्क। तेज पत्‍ता एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है। तेजपत्ते का इस्तेमाल ज्यादातर भारतीय पकवानों में किया जाता है लेकिन तेजपत्ता सिर्फ सब्जी का स्वाद बढ़ाने के काम ही नहीं बल्कि शरीर को कई तरह के रोगों से मुक्त रखने का काम करता है। उनमें से मुख्य रोग है डायबिटीज। जी हां, आज जहां हर दूसरा व्यक्ति शुगर की बीमारी से पीड़ित है वहां जरुरत है हमें अपनी रुटीन में कुछ ऐसी चीजों को शामिल करने की जिससे कि आप शूगर और अन्य कई बीमारियों के चपेट में आने से बच सकते हैं। तो चलिए जानते हैं तेज पत्ते के औषधीय गुणों के बारे में विस्तार से..

यह खबर भी पढ़े: आई क्यू लेवल बढ़ाने में फायदेमंद होती हैं फूलगोभी, जानिए कैसे

 
डायबिटीज : तेज पत्ते को पानी में उबाल कर इसके पानी का सेवन करें। रोजाना इस तरह तेज पत्ते का इस्तेमाल आपका बड़ा हुआ शुगर लेवल तो कम करेगा ही साथ ही आगे आने वाले बच्चों में इस बीमारी के लक्ष्णों को भी कम करने में  मदद करेगा। 

sh

वजन घटाने : शरीर से अत्यधिक चर्बी हटाने कि लिए तेज पत्ते का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसमें मौजूद फाइबर वजन नियंत्रित करने में आपकी मदद कर सकता है। यदि आप पनीर,चिकन और अन्य फैट वाली चीजें खा रहें है तो उसमें तेज पत्ते का तड़का लगाना मत भूलें। 

दांतो के लिए: हमारे दांतों स्‍वस्‍थ्‍य और साफ रखने के लिए तेज पत्‍ता बहुत ही उपयोगी होता है।एक रिपोर्ट के अनुसार तेज पत्ते में मौजूद विटामिन-सी मसूड़ों और दांतों को स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है। तेज पत्ता एंटीइंफ्लेमेटरी गुणों से समृद्ध होता है, जो मसूड़ों और दांत की दर्द में आराम दिलाने का काम करता है। 


पथरी : पथरी से परेशान लोगों के लिए तेज पत्ता बहुत काम की चीज है। 2 से 3 तेज पत्तों को पानी में उबाल कर काढ़ा तैयार कर लें। अब पानी ठंडा होने के बाद इसका सेवन करें। ऐसा आपको हफ्ते में कम से कम दो बार जरुर करें। खासतौर पर जो लोग पथरी की दर्द से परेशान हैं उन्हें तेज पत्ते वाला पानी रुटीन में पीना चाहिए।

पाचन क्रिया: अपने पाचन तंत्र को मजबूत करने के लिए तेज पत्ते के चूर्ण का इस्तेमाल करें। गलत खान-पान से कई बार पेट में दर्द, एसिडिटी और मरोड़ जैसी परेशानियां हो जाती है। इन सबसे बचने के लिए भी तेज पत्ते का चूर्ण काफी मददगार है। 

sh

नींद न आना:  कई बार तनाव और चिंता के चलते व्यक्ति को नींद न आने की समस्या हो जाती है। ऐसे में सोने से पहले तेजपत्ते के तेल की कुछ बूंदों को पानी में मिलाकर पीने से अच्छी नींद आती है। साथ ही आपका स्ट्रेस लेवल भी कम होता है।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

 

More From lifestyle

Trending Now
Recommended