संजीवनी टुडे

... तो इसलिए हर लड़की सोचती है काश मैं लड़का होती

संजीवनी टुडे 05-08-2019 14:46:37

आज के इस आधुनिक समय में लड़का-लड़की को लेकर लोगों की सोच काफी हद तक बदल चुकी है। अब मॉडर्न ज़माने में लड़का-लड़की को लेकर भेदभाव नहीं किया जाता लेकिन आज भी कुछ ऐसी बातें हैं


डेस्क। आपको पता होगा की कई लोग लड़का-लड़की में भेदभाव करते हैं। लेकिन आज के इस आधुनिक समय में लड़का-लड़की को लेकर लोगों की सोच काफी हद तक बदल चुकी है। अब मॉडर्न ज़माने में लड़का-लड़की को लेकर भेदभाव नहीं किया जाता लेकिन आज भी कुछ ऐसी बातें हैं जहां लड़का-लड़की मे अंतर किया जाता है। लेकिन कोई यह नहीं सोचता है कि लड़का-लड़की की अपनी अलग पहचान होती है। लड़के काफी हिम्मती होते हैं, वहीं महिलाएं कुछ भावुक स्वभाव की होती हैं। कोई यह नहीं सोचता कि लड़का और लड़की का इस समाज में अपना-अपना एक अलग स्‍थान है, उनकी एक अलग पहचान है।

अगर आपको जुड़वां बच्‍चे पाने की है चाहत तो करे यह उपाय, जाने इसके शुरुआती लक्षण

ये है वो खास वजह:

-अगर किसी तरह घरवाले लड़की को घर से निकलने की परमिशन दे भी दें तब भी उन पर शाम को जल्‍दी घर लौटने की पाबंदी लगा दी जाती है। ऐसे पलों पर लड़कियां सोचती हैं कि अगर वो लड़का होती तो ऐसी पाबंदियां उन पर नही लगाई जातीहै।

dddd

- कई बार लड़कियां घर से बाहर अपने दोस्तों के साथ घूमने जाना चाहती हैं लेकिन उन्हें घर से इजाज़त नहीं मिलती जबकि दूसरी ओर लड़कों को परमिशन की जरूरत ही नहीं पड़ती है ।


- कई अवसरों पर लड़कियों को उनकी बात रखने का मौका नहीं मिलता। यदि वह अपनी बात बोलने की कोशिश भी करें तो उनको बोलने नहीं दिया जाता है।

-लड़कियों को कई बार समझाया जाता है कि तुम घर की इज्जत हो इसलिए जो भी फैसला लो सोच समझ कर लो। तुम्हारे फैसले से घर की इज्‍जत भी खराब हो सकती है।

dd

- पीरियड्स के दिनों में लड़कियों को काफी दर्द और चिड़चिड़ाहट से गुज़रना पड़ता है जिसके कारण उन्हें कई बार बिना वजह के गुस्सा भी आ जाता है और फिर उनके मन में लड़का होने का ख्याल आता है।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From lifestyle

Trending Now
Recommended