संजीवनी टुडे

स्मार्टफोन की लत इंसान के लिए हो रही हैं खतरनाक,इन बिमारियों के हो रहे हैं शिकार

संजीवनी टुडे 08-11-2019 13:58:43

युवाओं में इंटनेट का क्रेज दिनों-दिन बढ़ता जा रहा है। सस्ता डेटा पैक का ऑफर देखते ही लोग खुश हो जाते हैं और उसका पूरा फायदा उठाते है लेकिन आपको बता दें कि यह आपके सेहत के लिए हानिकारक साबित हो सकता है।


डेस्क। आजकल धीरे-धीरे समय और इंसान के साथ ही कैंसर, डायबीटीज और हार्ट डिजीज के अलावा लाइफस्टाइल से जुड़ी कई बीमारियां भी तेजी से बढ़ रही हैं। इनकी वजह हमारी गलत आदतें हैं। आजकल सभी लोग इंटनेट का इस्तेमाल करते हैं। युवाओं में इंटनेट का क्रेज दिनों-दिन बढ़ता जा रहा है। सस्ता डेटा पैक का ऑफर देखते ही लोग खुश हो जाते हैं और उसका पूरा फायदा उठाते है लेकिन आपको बता दें कि यह आपके सेहत के लिए हानिकारक साबित हो सकता है। हम अपनी रोजाना की आदतों में बदलाव कर इन बीमारियों से छुटकारा पा सकते हैं। आइये जानते हैं... 

 ये खबर भी पढ़े:  बदलते मौसम में ये आदतें बना सकती हैं आपको बीमार, न करें लापरवाही

अनुसंधानकर्ताओं के अनुसार इस बिहेवियर की वजह से स्कल के बेस के पास हड्डी का एक्सट्रा लंप भी बन रहा है। एक्सपर्ट्स की माने तो हमें फोन को आई लेवल पर रखकर ही यूज करना चाहिए।

lifestyle

बता दें कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने दुनियाभर में हद से ज्यादा ऑनलाइन गेमिंग खेलने को भी एक मानसिक बीमारी के रूप में स्वीकार किया है। गेमिंग डिसऑर्डर से पीड़ित ज्यादातर लोग अपने हर दिन के काम से ज्यादा वीडियो गेम को तरजीह देते हैं।

स्पाइनल सर्जन्स बताते है कि स्मार्टफोन पर पोस्ट को देखते और स्क्रॉल करते वक्त अपने सिर और गर्दन को झुकाकर रखने की वजह से गर्दन पर काफी प्रेशर पड़ता है। लंबे समय तक ऐसी ही स्थिति बनी रहे तो गर्दन की मांसपेशियों में सूजन और जलन होने लगती है और इसी कंडिशन को टेक्स्ट नेक कहते हैं।

lifestyle

-एक शोध के मुताबिक अधिक देर तक फोन का इस्तेमाल करने से आंखे ड्राई होने लगती है। इसके अलावा लोगों को आंखों से संबंधित और भी कई परेशानियां झेलनी पड़ती हैं। यहीं नहीं, आंखों की रोशनी भी जा सकती है।

-वहीं, बीमारी के लक्षणों की बात करें तो इसमें बीमार व्यक्ति को नींद नहीं आती और वह अपने सामाजिक जीवन को भी नजरअंदाज करने लगता है। गेम खेलने वाले करीब 10 प्रतिशत लोग गेमिंग डिसऑर्डर से पीड़ित होते हैं।

lifestyle

-सस्ता डाटा पेट माइग्रेन जैसी बीमारी को भी न्यौता दे सकता है। ज्यादा देर फोन पर चिपके रहने से माइग्रेन की समस्या हो सकती है। ऐसे में बेहतर है इसका ज्यादा इस्तेमाव न करें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From lifestyle

Trending Now
Recommended