संजीवनी टुडे

केले के साथ करें मिर्च का रोपण, होगा दोगुना फायदा

संजीवनी टुडे 13-06-2019 01:45:00

अब किसान अपने खेत से तीन गुना लाभ कमा सकते हैं। कृषि वैज्ञानिक किसानों से खेत से एक के बजाय दो से तीन उपज लेने के लिए जागरूक कर रहे हैं।


लखनऊ। अब किसान अपने खेत से तीन गुना लाभ कमा सकते हैं। कृषि वैज्ञानिक किसानों से खेत से एक के बजाय दो से तीन उपज लेने के लिए जागरूक कर रहे हैं। खेती का काम मौसम के साथ अत्याधुनिक तकनी​की पर भी निर्भर है। अब किसान सालभर खेत से फसल काट सकता है। किसानों के लिए केले की खेती के साथ ही मिर्च अथवा फूल या पत्ता गोभी को लगाना ज्यादा फायदेमंद है। इससे किसानों की दोगुनी आय हो जाएगी। कृषि वैज्ञानिकों की मानें तो 15 जून से केले के पौधरोपण का समय शुरू हो जाता है। केले के साथ मिर्च अथवा गोभी को लगाना मूलधन के साथ चक्रवृद्धि ब्याज पाने के समान है।कृषि विशेषज्ञों की मानें तो फसलों में भी किसानों को एक साथ दो फसलों पर जोर देना चाहिए। उप निदेशक उद्यान अनीस श्रीवास्तव के अनुसार केले का पौध रोपण के लिए छह-छह फिट की दूरी पर गड्ढा खोदकर उसमें गोबर की खाद डाल देना चाहिए। इसके बाद जब बारिश शुरू हो तो पौधरोपण की प्रक्रिया शुरू हो जाती है। गड्ढा खोद देने से कीड़े-मकोड़े मर जाते हैं। किसानों को केले के साथ आलू या मिर्च या गोभी भी उगाना चाहिए। इससे किसानों को ज्यादा फायदा मिलेगा।

 

जब तक केला रहेगा सुसुप्तावस्था में, तब तक तैयार हो जातीं सब्जियां
उप निदेशक उद्यान ने बताया कि केले का पौध राेपण 15 जून से होता है। यह फसल फरवरी तक सुसुप्तावस्था में रहता है। जब तक यह फसल सुसुप्तावस्था में रहेगी, तब तक मिर्च या अन्य सब्जियां तैयार हो जाएंगी। इससे केले की फसल पर कोई खास असर भी नहीं पड़ता और किसान को दोगुनी आमदनी हो जाएगी। एक हेक्टेयर में 3100 केले के पौधे लगाए जाते हैं। जब फसल तैयार होगा तो लगभग एक हेक्टेयर में 930 क्वींटल उपज है। उप निदेशक के अनुसार इसके लिए सबसे उपयुक्त बलुई-दोमट मिट्टी होती है। खेत का चयन करते समय यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि खेत में पानी का जमाव न हो, क्योंकि केले में पानी तो ज्यादा चाहिए लेकिन उसका जमाव होने पर फसल खराब हो जाती है।

फूल गोभी, फिर पत्ता गोभी उसके बाद लें केले की फसल

उन्होंने बताया कि केले के साथ ही मिर्च भी लगाया जा सकता है। इससे किसानों को दोगुना लाभ होगा। मिर्च की तोड़ाई फरवरी मार्च तक हो जाती है और केले की फसल उसके बाद ही अपनी चरम पर पहुंचता है। इससे जब तक केले की फसल की वृद्धि होगी, तब तक मिर्च की उपज निकल जाएगी। केले की खेती के साथ पत्ता और फूल गोभी भी लगाया जा सकता है। एक बार किसान खेत में अर्ली गोभी लगाकर पुन: निकलने के बाद पत्ता गोभी लगा सकते हैं। इससे किसानों को तीन फसल मिल जाएगी और आमदनी में काफी इजाफा हो जाएगा।

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट  9314166166

More From lifestyle

Trending Now
Recommended