संजीवनी टुडे

जानिए, भ्रामरी प्राणायाम की विधि और फायदे

संजीवनी टुडे 02-04-2019 15:43:31


डेस्क। सेहत के लिए योग करना बहुत फायदेमंद है। तो आज हम जानते है भ्रामरी प्राणायाम के बारे मे इस प्राणायाम को करने के पश्चात व्यक्ति का मन तुरंत शांत हो जाता है। यह प्राणायाम काफी सरल है और किसी भी वक्त किया जा सकता है। भ्रामरी प्राणायाम मन की व्याग्रता मिटाने का सटीक उपाय है। इस प्राणायाम में साँस छोड़ने की आवाज़ ऐसी लगती है जैसे कि मधुमक्खी की ध्वनि हो। इस प्राणायाम के द्वारा, व्यक्ति का मन, क्रोध, चिंता व निराशा से मुक्त हो जाता है। तो आज जानते है इस प्राणायाम की विधि के बारे मे - 

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

विधि - 
सबसे पहले भ्रामरी प्राणायाम करने के लिए समतल जगह पर बैठ कर अब अपनी आखें बंद कर लें और कुछ समय के लिए पूरे शरीर को शिथिल कर लें और होठों को हल्के से बंद रखें। अब अपनी तर्जनी या मध्यमा ऊँगली से कानों को बंद कर लें। एक लंबी गहरी श्वास अंदर ले और फिर श्वास छोड़ते हुए धीरे से उपास्थि को दबाएँ। यह प्रक्रिया बार बार करे जिसे आप को मधुमख्खी जैसी भिनभिनाने की आवाज़ आने लगती है। आप इस प्रक्रिया को बार- बार दोहराएँ।

फायदे - 

इस प्राणायाम से चिंता, क्रोध व उत्तेजना से मुक्त करता है। यह प्राणायाम हाइपरटेंशन के मरीजों के लिए लाभदायक है। 

यदि सिरदर्द परेसानी है तो यह प्राणायाम लाभदायक होता है। माइग्रेन के रोगियों के लिए यह प्राणायाम लाभदायक है।

MUST WATCH & SUBSCRIBE

इस प्राणायाम के अभ्यास से आत्मविश्वास बढ़ता है। यह प्राणायाम आपको चिंता और क्रोध से मुक्त करता है। 

More From lifestyle

Trending Now