संजीवनी टुडे

जानिए बबूल के अचूक फायदे

संजीवनी टुडे 11-06-2019 08:41:52

बबूल के पेड़ को जरूर देखे होंगे। आयुर्वेद में बहुत से पेड़ों का बहुत ही गुणकारी महत्व होता है सदियों से भारत और कई देशों में स्वास्थ्य की द्रष्टि से बबूल (कीकर) का देशी चिकित्सा पद्धति में खासा उपयोग किया जाता आ रहा है।


डेस्क। बबूल के पेड़ को जरूर देखे होंगे। आयुर्वेद में बहुत से पेड़ों का बहुत ही गुणकारी महत्व होता है सदियों से भारत और कई देशों में स्वास्थ्य की द्रष्टि से बबूल (कीकर) का देशी चिकित्सा पद्धति में खासा उपयोग किया जाता आ रहा है। बबूल के पेड़ में पाए जाने वाले फली का आयुर्वेद में बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान है क्योंकि यह फली बहुत सी बीमारियों में राहत पहुंचाने का काम करता है। बबूल की पत्‍तियां गोंद और छाल सभी चीज़ें बड़ी ही काम की होती हैं। बबूल के फायदे मॅुह से जुड़े कई प्रकार की समस्याओं को दूर करने के साथ साथ संम्पूर्ण स्वास्थ के लिये फायदेमंद होते है आइये जानते है कि बबूल के फायदे क्या है। आइये जानते है बबूल की पत्ती के फायदे, बबूल की छाल के फायदे और बबूल की गाद के फायदे के बारें में।

बबूल के फायदे 

अधिक पसीना आना: अधिक पसीना आने की परेशानी में बबूल के पत्ते और बाल हरड़ को बराबर-बराबर मिलाकर महीन पीस लें। इस चूर्ण की पूरे बदन पर मालिश करें और कुछ समय नहा लें। नियमित रूप से यह प्रयोग कुछ दिन तक करने से पसीना आना बन्द हो जाता है। और बबूल के पत्ते के पेस्ट का उबटन लगाने से पसीना आना बंद हो जाता है।

ss

दस्त में फयेड़फेमंद : दस्त को ठीक करने के लिए बबूल का उपयोग  कर सकते है बबूल की पत्तियो का लगभग 12 ग्राम मिश्रण बनाकर इस मिश्रण का दिन में तीन बार सेवन करें। साथ ही साथ इसकी छाल से बने अर्क को भी  दिन में तीन बार लिया जा सकता है।

-पेशाब की समस्या : पेशाब ज्यादा आने पर भी बबूल की फली बहुत ही उपयोगी होता है क्योंकि इसको सेवन करने से पेशाब का ज्यादा आना बंद हो जाता है। 

शरीर की कमजोरी को दूर करने में: शरीर के कमजोरी को भी दूर करने का बबूल का फल ही काम करता है इसे रोज सुबह शाम पानी मिलाकर पीने से शरीर के सभी कमजोरी को दूर करता हैं हड्डियां कमजोर होने पर भी इसका इस्तेमाल किया जाता है हड्डियां कमजोर होने पर इस को पीसकर शहद के साथ सुबह-शाम लेने से हड्डियां बहुत ही मजबूत और कठोर हो जाती हैं इस प्रकार से बबूल की फली हमारे बहुत से बीमारियों में लाभकारी होता है।

दांत का दर्द: दांत के दर्द की परेशानी में बबूल की छाल, पत्ते, फूल और फलियां लें। सभी को बराबर-बराबर मात्रा में मिलाकर चूर्ण बनाएं। इस चूर्ण का मंजन करने से दांतों के रोग दूर होते हैं।ss

घाव भरने में: बबूल के पत्तियां को घाव भरने में बहुत ही फायदे मंद माना जाता है बबूल के पत्तो का इस्तमाल रक्त रिसाव एवं संक्रमण रोकने में किया जा सकता है बबूल से घावों को ठीक किया जाता है।

मात्र 220000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314188188

 

More From lifestyle

Trending Now
Recommended