संजीवनी टुडे

इन घरेलू उपायों की मदद से अपनी आँखों की रोशनी रखें बरकरार...

संजीवनी टुडे 10-04-2020 14:52:00

वैसे तो शरीर के सभी अंग बहुत महत्वपूर्ण है लेकिन आँखों के बिना तो जीवन की कल्पना भी अधूरी सी है। आँख शरीर का सबसे नाजुक और महत्वपूर्ण अंग है। आज हमारा वर्तमान इंटरनेट का युग है जिसमें हम सब बुरी तरह से जकड़ें हुए है। बच्चे हों या बड़े आज कल के अनियमित खान-पान व लगातार नए तरह के गेजिट्स के उपयोग के चलते इनकी आंखों पर लगातार असर पड़ रहा है। आधुनिकता कोई बुरी बात नहीं है लेकिन इसकी लत बहुत बड़ी कीमत से चुकानी पड़ती है।


डेस्क। वैसे तो शरीर के सभी अंग बहुत महत्वपूर्ण है लेकिन आँखों के बिना तो जीवन की कल्पना भी अधूरी सी है। आँख शरीर का सबसे नाजुक और महत्वपूर्ण अंग है। आज हमारा वर्तमान इंटरनेट का युग है जिसमें हम सब बुरी तरह से जकड़ें हुए है। बच्चे हों या बड़े आज कल के अनियमित खान-पान व लगातार नए तरह के गेजिट्स के उपयोग के चलते इनकी आंखों पर लगातार असर पड़ रहा है। आधुनिकता कोई बुरी बात नहीं है लेकिन इसकी लत बहुत बड़ी कीमत से चुकानी पड़ती है। टीवी, मोबाइल, लेपटाप आदि साधनों के बिना जीवन अगर असंभव नही तो कठिन अवश्य है। हम यह बात भी भलीभांति जानते है कि इन सब साधनों से आँखों की रोशनी तुरन्त ना सही पर धीरे-धीरे जरूर प्रभावित होती है। आइये  जानते हैं आंखों की रोशनी बढ़ाने और चश्मा हटाने के कई घरेलू उपाय, जिनसे आप आसानी से चश्मे से छुटकारा पा सकते हैं।

lifestyle

आँखों की रोशनी बढ़ाने के घरेलू उपाय

पानी: सुबह उठकर मुँह में साफ ठंडा पानी भरकर आँख खोलकर साफ पानी के छींटे आँखों में मारने से आँखों की रोशनी बढ़ती है।

पूरी नींद लेना: पूरी नींद लेने से आपकी आँखों के साथ-साथ आपके पुरे शरीर को भी आराम मिलेगा और कभी भी सिर दर्द, थकान, आँखों में धुँधला पन महसूस नहीं होगा और सबसे ज्यादा आपकी आँखों की मांसपेशियों को आराम मिलेगा जिससे आंखे हमेशा स्वस्थ रहेगी।

lifestyle

साबुत धनिया: आँखों की रोशनी बढ़ाने के लिए 10 ग्राम सूखा धनिया 300 मिलि. पानी में उबालें। ठंडा करके छानकर इससे आंखें धोएं। इससे आँखों की जलन, रक्तिमा, सूजन, लाली आदि में तुरंत असर होता है। इससे आँखों की रोशनी भी बरकरार रहती है।

बादाम, मिश्री और सौंफ: इन तीनों को बराबर मात्रा में मिलाकर चूर्ण बनाकर रख लें। रात को सोने से पहले 10 ग्राम की मात्रा मुँह में लेकर धीरे-धीरे राल बनने तक खाएं। इस मिश्रण को आप एक गिलास पानी के साथ भी ले सकते है। इस चूर्ण को लेने के बाद दो घंटे तक पानी ना पिएं। कमजोर रोशनी, कमजोर याददास्त और कमजोर दिमाग तीनों समस्या दूर होती है। इस चूर्ण को कुछ महीनों तक अवश्य लें।

lifestyle

आंवला: सुबह-शाम आँवले के जूस में थोड़ा सा शहद मिलाकर पिएं। रात को सूखे आँवले को अच्छे से धोकर साफ पानी में भिगोकर रख दें। दूसरे दिन इस पानी को अच्छे से तीन-चार बार बारीक कपड़े से छान लें और रूई की सहायता से दिन में तीन बार आँखों में डालें। किसी भी रूप में अधिक से अधिक आँवले का सेवन करें।

lifestyle

त्रिफला: आयुर्वेद में त्रिफला अपने गुणों के कारण एक अहम स्थान रखता है। यह कई बीमारी में फायदेमंद है। इसमें तीन तत्व आंवला, हरड और बहेड़ा होता है। आँखों की रोशनी के लिए सबसे पहले त्रिफला लें और उसे सुखाकर बारीक पीस लें। अब एक चम्मच चूर्ण को एक गिलास पानी में डाल कर रात भर रख दें। अगले दिन इस पानी को छान ले और उससे अपनी आँखों को धोए। एक ही महीने में आपको फर्क दिखेगा। त्रिफला चूर्ण को एक भाग शुद्ध घी और तीन भाग शहद के साथ रात में लेने से भी लाभ होता है।

नारियल या तिल का तेल: नियमित पाँव के तलवों कि मालिश करने से आँखों की रोशनी बढ़ती है। इसके लिए नारियल या तिल का तेल उत्तम है।

ये खबर भी पढ़े: आखिर महिलाएं क्यों बनाती है गैर मर्द से संबंध...

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From lifestyle

Trending Now
Recommended