संजीवनी टुडे

महिलाओं को पीरियड्स में इंफेक्शन से बचने के लिए ध्यान रखें, ये जरुरी बातें

संजीवनी टुडे 01-08-2019 12:41:34

महिलाओं को पीरियड्स के समय ब्लीडिंग होना एक आम बात है।


डेस्क। महिलाओं को पीरियड्स के समय ब्लीडिंग होना एक आम बात है। पीरियड्स के दौरान महिलाओं को कई प्रकार की स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ता है। महिलाओ को पीरियड्स की समस्या को हल्के में नहीं लेनी चाहिए। अगर ज्यादा समस्या है तो डॉक्टर से सम्पर्क करे साथ ही आज हम कुछ जरुरी बाते बताने जा रहे है जो पीरियड्स के समय हमे ध्यान रखनी होगी।

गर्म पानी से स्‍नान करें
पीरियड्स के दौरान बैक्टीरिया या इंफेक्शन से बचने के लिए गर्म पानी से स्‍नान करें। इससे स्किन इंफैक्शन दूर रहेगी और थकावट कम महसूस होगी। साथ ही इससे शरीर में आने वाली दुर्गंध भी दूर होती है।

अलग अंडरवियर रखें -
पीरियड्स के दिनों में अपने पास अलग से कुछ अंडरवियर रखें और बदल-बदल कर इस्तेमाल करें। अगर दाग लगे तो उसे तुरंत धोएं और अपनी अंडरवियर को कीटाणु मुक्त रखें क्योंकि दागदार अंडरवियर पहनने से स्किन रैशेज व इंफैक्शन की समस्या हो सकती है।

बदले नैपकीन -
पीरियड्स में ब्लीडिंग होती है तो कई तरह के जीवाणु उत्पन्न होते हैं जो ब्लड के फ्लो को बढ़ा देते है जिससे जलन, रैशेज, यूरिन इंफैक्शन की समस्या हो सकती हैं। इसलिए हर 4-5 घंटे बाद नैपकीन बदले। अगर आप टैम्पान पहनती हैं तो उसे हर 2 घंटे में बदलें। इससे आप इंफैक्शन से बची रहेगी और दुर्गंध की समस्या भी नहीं होगी।

वेजाइना जरूर धोएं -
मासिक धर्म के दौरान अपनी योनि की सफाई पर पूरा ध्‍यान रखना चाहिए क्योंकि इसकी बाहरी स्किन पर कई सिलवटे होती है जो ब्लड को इकट्ठा कर लेती है, जिससे दुर्गंध हो सकती है।

डिस्कार्ड करें -
इस्तेमाल करने के बाद सेनेटरी नैपकिन को सही तरीके से डिस्कार्ड यानी डस्टबिन में डालें। सबसे पहले इसे अच्छे से लपेटे, ताकि बैक्टीरिया या इंफैक्शन न फैले। ध्यान रहे कि नैपकीन को फ्लश न करें क्योंकि यह टायलेट को ब्लोक कर देगा जिससे पानी वापस हो जाएगा जो बैक्टीरिया फैलाने का काम करेगा।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From lifestyle

Trending Now
Recommended