संजीवनी टुडे

आंखों के बहुत फायदेमंद हैं अरंडी का तेल, जाने इसके और भी फायदे

संजीवनी टुडे 20-05-2019 11:17:15


डेस्क। अरंडी का तेल प्रकृति के द्वारा दिया गया एक चमत्कार हैं। अरंडी का तेल आंखों से जुड़ी सभी समस्‍याओं के लिए किसी रामबाण औषधि से कम नहीं है। जिसका उपयोग आज के समय में औषधि के रूप में रोगों के उपचार के लिए किया जाता है। इसमें मौजूद प्राकृतिक तत्व ना हमें जानें कितनी प्रकार की बीमारियों से निजात दिलाने में मदद करते है। अरंडी के तेल में पोषक तत्‍वों की उच्‍च मात्रा के कारण इसे औषधी के रूप में इस्‍तेमाल किया जाता है। अरंडी के तेल के फायदे आंखों की बीमारियों को दूर करने के लिए जानें जाते हैं। आंखों में अरंडी के तेल का उपयोग कर आप आंखों की खुजली, आंखों का लाल होना और यहां तक की मोतियाबिंद जैसी समस्‍याओं का इलाज कर सकते हैं।

अरंडी के तेल का उपयोगआज के समय में औषधि के रूप में रोगों के उपचार के लिए किया जाता है। इसमें मौजूद प्राकृतिक तत्व ना हमें जानें कितनी प्रकार की बीमारियों से निजात दिलाने में मदद करते है। कैस्टर ऑयल आज के समय की जादुई औषधि ही नहीं है बल्कि कई समस्याओं का भी हल है, वैसे तो हमारे आसपास ऐसे की औषधीय उपचार मौजूद है, पर कैस्टर ऑयल ऐसा प्राकृतिक उपचार है जिसका उपयोग शरीर के रोगों को दूर करने के साथ-साथ बाल, त्वचा एवं शरीर के वजन से संबंधित समस्याओं के निदान के लिए भी किया जा सकता है।

a

कैस्टर ऑयल को विभिन्न क्षेत्रों में भिन्न-भिन्न नामों से जाना जाता है, जैसे हिन्दी में इसे “अरंडी का तेल” कहा जाता है, तो तेलुगू में आमुडामु, मराठी में एरंडेला तेला, तमिल में कैस्टर ऑयल को अमनक्कु इनने, मलयालम में अवनककेन्ना और बंगाली में रेरिर तेल के नाम से जाना जाता है। इस तेल से अखरोट के समान खुशबू आती है। इसका रंग अरंडी के तेल की मात्रा पर निर्भर करता है।  आजा आपको अरंडी तेल के फायदे के  बारे में बताने जा रहे हैं। 

आंख में कुछ गिर जाना : आंख में मिट्टी, कंकरी गिर जाये, धुआं, तीव्र गंध से दर्द हो तो एरंड के तेल की एक बूंद आंख में डालने से लाभ होता है। तेल डालने के बाद हर 25 मिनट में सेंक करें। अरंडी का तेल आंखों के लिए फायदेमंद होता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि अरंडी के तेल में फैटी एसिड की उच्‍च मात्रा होती है। इसके अलावा अरंडी के तेल में 90 प्रतिशत रिकिनोलिक एसिड होता है।

a

चोट लगने पर :चोट लगकर खून आने लगे, घाव हो तो एरंड का तेल लगाकर पट्टी बांधने से लाभ होता है। और एरंड के पत्ते पर तिल का तेल लगाकर गर्म करके बांधने से चोट से सूजन एवं दर्द में लाभ होता है।

स्तनों की रसौली (गांठे) : एरंड के तेल से स्त्री के स्तनों की मालिश करें और एरंड के पत्तों को स्तन पर बाँधे। इससे स्तन में होने रसूली (गांठें, गिल्टी) धीरे-धीरे कम होकर समाप्त हो जाती हैं। इसके साथ ही साथ स्तनों के आकार में बढ़ोत्तरी होती जाती है।

पेट में दर्द होने पर :एरंड का तेल 10 मिलीलीटर दूध में मिलाकर पीने से कब्ज के कारण होने वाला पेट का दर्द समाप्त हो जाता है। या एरंड के तेल में हींग को बारीक पीसकर मिलाकर पेट के ऊपर लेप करने से पेट के दर्द में आराम मिलता है।

आंखों की खुजली : आंखों की खुजली या जलन जैसी समस्‍या से ग्रतिसत लोगों के लिए अरंडी का तेल औषधी का काम करता है। खुजली वाली आंखों के लिए अरंडी का तेल फायदेमंद होता है। इस तेल में मॉइस्‍चराइजिंग गुण उच्‍च मात्रा मे होते हैं। जिसके कारण यह आंखों में नमी बनाए रखता है और खुजली को शांत करने में सहायक होता है। यदि आपकी आंखों में खुजली हो रही है तो आप अरंडी के तेल का उपयोग कर सकते हैं।

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

 

शरीर की जलन : एरंड के बीज के भीतर के भाग को पीसकर बकरी के दूध में मिलाकर पैरों के तलवों में मालिश करने से रोगी के शरीर की जलन दूर हो जाती है। एरंडी के तेल से भी मालिश करने से रोगी को लाभ मिलता है।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

More From lifestyle

Trending Now
Recommended