संजीवनी टुडे

सुबह इस जगह पर नंगे पैर चलने से होती हैं आंखों की रोशनी होगी तेज

संजीवनी टुडे 29-06-2019 14:09:53

घास पर चलना आपकी सेहत के लिए बहुत अच्छा होता है। इससे आपकी सेहत पर काफी असर पड़ता है। घास पर नंगे पाओ चलने से कुछ बिमारिओं से राहत मिलती है। पार्क में टहलते समय अगर घास पर नंगे पांव घूमा जाए तो यह आपकी सेहत पर बहुत सकारात्मक असर डालता हैं।


डेस्क। आप ये तो जानते ही होंगे की रोजाना सुबह की सैर हमारे लिए बहुत ही फायदेमंद होती हैं। लेकिन अक्सर आप मोजे और स्पोर्ट्स शूज पहनकर वॉक करते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं। घास पर चलना आपकी सेहत के लिए बहुत अच्छा होता है। इससे आपकी सेहत पर काफी असर पड़ता है। घास पर नंगे पाओ चलने से कुछ बिमारिओं से राहत मिलती है। पार्क में टहलते समय अगर घास पर नंगे पांव घूमा जाए तो यह आपकी सेहत पर बहुत सकारात्मक असर डालता हैं।आइये जाने घास पर नंगे पैर चलने के फायदे क्‍या हैं।

तनाव को दूर करे: सूर्योदय के समय घास पर नंगे पैर चलना आपकी इंद्रियों को फिर से जीवंत कर सकता है। नंगे पैर चलना मानसिक तनाव को कम करने और दिमाग को शांत रखने में मदद कर सकता है। तनाव से छुटकारा पाने के लिए प्रतिदिन कम से कम 30 मिनिट तक घास पर नंगे पैर चलना चाहिए। यह आपके दिमाग को तेज बनाने में भी सहायक होता है।

ss

आंखों की रोशनी होगी तेज: आपको यह जान कर हैरानी हो सकती है कि पैदल चलना आंखों के लिए फायदेमंद होता है। घास पर सुबह नंगे पैर चलने से यह प्रेशर पॉइन्‍ट दुरुस्त रहता है. ऐसा माना जाता है कि घास के हरे रंग को देखने से आंखों को राहत मिलती हैं। घास पर सुबह की ओस आंखों के लिए भी काफी फायदेमंद होती है।

शरीर को उत्‍तेजित करे:  घास पर नंगे पैर चलने से सिर्फ आपको ऊर्जा दिलाता है बल्कि आपके शरीर को उत्‍तेजित कर सकता है। जब आप नियमित रूप से घास में नंगे पैर चलते हैं तो यह आपके पैरों को मजबूत करने के साथ ही आपके फेफड़ों, पेट, गुर्दे और अन्‍य अंगों की कार्य क्षमता को भी उत्‍तेजित करता है। 

नर्वस सिस्‍टम होगा दुरुस्त: रोजाना नंगे पांव घास पर चलने से पैर के विशिष्ट एक्यूपंक्चर पॉइन्‍ट उत्तेजित होते हैं जो हमारी नर्वस को उत्तेजित करने में हेल्‍प करते है, जिससे हमारे नर्वस सिस्‍टम में सुधार होता है।

ss

प्रदूषित वायु से बचाव: जो लोग देर तक प्रदूषित वायु के संपर्क में रहते है, उनमें सांस रोग होने की संभावना ज्यादा होती है, यह वायु उनके मस्तिष्क पर भी असर डालती है। व्यक्ति में याद रखने की क्षमता घटने लगती है। यहां भी ग्रीन थेरेपी काम आती है। यदि आप अपने कार्यस्थल के आस-पास हरियाली रखेंगे, तो प्रदूषणकारी तत्व आप तक नहीं पहुंच पाएंगी।

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From lifestyle

Trending Now
Recommended