संजीवनी टुडे

अगर बीमारियों से बचना है तो नियमित अपनी डाइट में शामिल करें ये चीजें

संजीवनी टुडे 13-08-2019 11:57:37

आयुर्वेद के अनुसार शरीर में रोगों का कारण वात, पित्त और कफ को जिम्मेदार माना गया है।


डेस्क। प्राचीन काल से ही आयुर्वेद का बड़ा महत्व रहा है। आयुर्वेद के अनुसार शरीर में रोगों का कारण वात, पित्त और कफ को जिम्मेदार माना गया है। बता दे, शरीर में इनकी कमी या अधिकता होने पर कई तरह की बीमारियां होने का खतरा रहता हैं। स्वस्थ  शरीर के लिए सही आहार की जरुरत होती है। ऐसे में अगर अपने आहार में आयुर्वेदिक तत्वों को शामिल करे तो आपको किसी भी उपचार की जरूरत ही नहीं होगी। साथ ही इनके नियमित सेवन से बीमारियों का खतरा कम हो जाता है। तो आज जानते है कौन-कौन सी है वो चीजें -

यह खबर भी पढ़े: अगर आप भी है कान की खुजली से परेशान तो आजमाए ये घरेलू नुस्खे

गर्म दूध -
सेहत के लिए दूध पीना बहुत फायदेमंद होता है। आपको बता दे, की ठंडा दूध पचने में थोड़ा ज्यादा समय लेता है परन्तु गर्म दूध आसानी से जल्द पच जाता है। आयुर्वेद के अनुसार गर्म दूध शरीर में सभी तरह के दोषों में संतुलन बनाए रखता है।

अदरक -
अदरक का इस्तेमाल खाने का स्वाद बढ़ाने में किया जाता परन्तु अदरक अनेक बीमारियों को दूर करने में भी मददगार है। आपको बता दे, सर्दी-जुकाम में अदरक का प्रयोग खूब किया जाता है। अन्य समस्याओ में भी इसको दवा के रूप में प्रयोग किया जाता है।

गर्म पानी -
सेहत के लिए गर्म पानी पीने के बहुत सारे फायदे होते हैं। गर्म पानी शरीर से दूषित पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता हैं। नियमित सुबह गर्म पानी का सेवन करने से यह शरीर का मेटाबॉलिज्म सिस्टम सही रखता है साथ ही स्किन चमकदार बनती है।

जीरा -
मसालों के रूप में जीरे को इस्तेमाल में लिया जाता है। जीरे को आहार में शामिल करने से पाचन क्रिया दुरुस्त रखती है। जीरों को रात में भिगोकर अगली सुबह खाली पेट इस पानी का सेवन करने से अनेक फायदे मिलते हैं। 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

घी -
आयुर्वेद में सेहत के लिए देसी घी बहुत फायदेमंद माना गया है। आपको बता दे,  नियमित घी के सेवन से शरीर से दूषित पदार्थों बाहर आसानी से निकल जाते है। 

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From lifestyle

Trending Now
Recommended