संजीवनी टुडे

इस रिसर्च को पढ़ लिया तो अंधेरे में स्मार्टफोन यूज करना छोड़ देगें

संजीवनी टुडे 23-01-2018 17:40:22

डेस्क। अगर आप अंधेरे में यूज करते हैं स्मार्टफोन तो हो सकती है कई प्रॉब्लम। खासकर आज का युवा फोन को लेकर इतने व्यस्त रहते है कि उन्हें  अपने स्वास्थ्य का भी ख्याल नहीं रहता है। ये कितना बुरा असर डाल रहा है इसके बारे में जान लें। आज लोग स्मार्टफोन का यूज करते हैं। लेकिन इनमें से कुछ ऐसे लोग हैं जो रात में सोने से पहले या अंधेरे में भी काफी देर तक स्मार्टफोन का पर काम करते हैं। इसका आंखों और ब्रेन पर काफी बुरा असर पड़ता है। इसको लेकर कई रिसर्च और स्टडीज भी हो चुकी हैं, जिनमें यह साबित हुआ है कि अंधेरे में स्मार्टफोन की स्क्रीन पर काम करना कितना खतरनाक है। इन्हीं रिसर्च और स्टडीज के आधार पर हम बता रहे हैं - 

यह भी पढ़े:कटरीना कैफ ने सीखा फाइटिंग चलाना, देखे वीडियो

शोध में क्या कहा गया है-
अमेरिकन मस्कुलर डिजनरेशन फाउंडेशन की रिसर्च के अनुसार, अगर हम रोज अंधेरे में 30 मिनट भी स्मार्टफोन की स्क्रीन पर काम करते हैं तो इससे हमारी आंखें ड्राय होने लगती हैं। आंखें ड्राय होने से रेटिना पर बुरा असर पड़ता है। लंबे समय तक यही रूटीन रखने से के कारण आंखों की रोशनी कम होने लगती है।

MUST WATCH

यह भी पढ़े: कांग्रेस के एमएलसी दीपक सिंह ने की पुलिस अधिकारी के साथ बदतमीज

इसी तरह हार्वर्ड यूनिवर्सिटी और यूनिवर्सिटी ऑफ वरसेस्टर, इंग्लैंड की रिसर्च में भी साबित हुआ है कि अंधेरे में स्मार्टफोन यूज करना कितना घातक है। अगर सही समय पर सावधानियां न बरती जाएं तो इसका सिर्फ आंखों पर बुरा असर नहीं पड़ता, बल्कि बॉडी के अन्य कई हिस्सों पर भी बुरा असर पड़ने लगता है। इससे आपकी नींद पर भी धीरे-धीरे बुरी प्रभाव पड़ने लगता है। आपको देर तक जागने की लत लग सकती है,जो स्वास्थ्य के लिए काफी घातक सीध हो सकती है।  

Rochak News Web

More From lifestyle

Trending Now
Recommended