संजीवनी टुडे

अगर आप भी हैं परफ्यूम लगाने के शौकीन तो जान ले ये जरूरी बातें

संजीवनी टुडे 02-06-2020 10:41:35

क्‍या आप जानते है कि शरीर के कई जगह पर परफ्यूम लगाने से भी ये आपके ल‍िए नुकसानदायक हो सकता है।


डेस्क। आज के समय में फैशन का बोलबाला इतना है की कही भी जाना हो परफ्यूम और डियो के इस्तेमाल के बिना तो कही जाने की सोच भी नहीं सकते। लेकिन क्‍या आप जानते है कि शरीर के कई जगह पर परफ्यूम लगाने से भी ये आपके ल‍िए नुकसानदायक हो सकता है।

Perfume

परफ्यूम लगाने के नुकसान 

-पसीना शरीर के लिए अच्छा माना जाता है इससे रोम-छिद्र खुले रहते है और हमारी त्वचा भी साँस ले पाती है। लेकिन कुछ परफ्यूम पसीनें का अवरोधक बनते है जिससे शरीर में आर्सेनिक, लीड, कैडमियम, मरकरी जैसे घातक तत्व जमा होने लगते है। सीधे तौर पर कहा जायें तो यह सभी तत्व शरीर को रोगग्रस्त बनाए रखने का काम करते है।

Perfume

-पसीने के माध्यम से शरीर के खराब तत्व बाहर निकलते हैं लेकिन डियो लगाने से पसीने की ग्रंथियां कमजोर हो जाती हैं और बीमारियों के चांसेस ज्यादा हो जाते हैं। ज्यादातर डियोड्रेंट्स में पराबेन नाम का तत्व पाया जाता है, जिसके कारण ब्रेस्ट कैंसर होने के चांसेस बढ़ जाते हैं। यह तत्व कई ब्यूटी प्रोडक्ट्स में भी पाए जाते हैं।

Perfume

-परफ्यूम और डियो को एंटीबैक्टीरियल बनाते वक्त ट्राइक्लोसन केमिकल का प्रयोग किया जाता है। लेकिन यह केमिकल शरीर के अच्छे एंटी-बैक्टीरियल को नष्ट कर शरीर को एलर्जी की समस्या देता है। इतना ही नहीं गर्भावस्था के समय ऐसे परफ्यूम गर्भ में पल रहे शिशु के शारीरिक विकास पर भी हानिकारक प्रभाव डालते है।

हम में से तो कई लोग परफ्यूम लगाते हुए ये भी नहीं जानते है कि हमारे शरीर का कौनसा पार्ट सेंसेटिव है जहां परफ्यूम नहीं लगाना चाहिए।

Perfume

अंडरआर्म्‍स: कभी भी सीधे आपको अंडरआर्म में परफ्यूम नहीं लगाना चाहिए। क्योकि इस जगह की स्किन काफी सेंसेटिव होती है। सीधे परफ्यूम का इस्तेमाल करने से घर्षण और जलन के कारण यहां की स्कीन काली पड़ सकती है। जिससे त्वचा संबंदी समस्याये पैदा होने लगती है।

हाथ पर परफ्यूम लगाने के बाद उसे रगड़े नहीं: अक्‍सर लोग ऐसा करते हैं कि परफ्यूम लगाने के बाद उसे दूसरे हाथ से रगड़ते हैं और फिर उसकी खुशबू सूंघते हैं। पर ऐसा करने से कभी भी परफ्यूम की खुशबू बढ़ती नहीं है बल्कि वह घट जाती है। कलाई पर परफ्यूम लगाएं और उसे वैसे ही छोड़ दें। इससे खुशबू लंबे समय तक टिकी रहती है।

Perfume

कानों के पीछे: अक्‍सर महिलाएं कान के पीछे परफ्यूम लगाना ज्यादा पसंद करती है लेकिन कान के पीछे का भाग बहुत सेंसेटिव और ड्राय होता है। ऑयली जगहों पर परफ्यूम ज्‍यादा देर तक चलता है। परफ्यूम में मौजूद केमिकल और एल्‍कोहल त्वचा को और ज्‍यादा ड्राय बना देते है। इसल‍िए ऐसी जगहों पर परफ्यूम लगाने से पहले मॉइश्‍चराइजर का उपयोग जरूर करें।

प्राइवेट पार्ट के आसपास: यदि आप शॉट्स या लेग-रिवीलिंग ड्रेस पहनती है और अपनी जांघों के आसपास के हिस्सों में परफ्यूम छिड़कती है तो बहुत बड़ी गलती करती है। क्‍योंकि नीचे की तरफ छिड़कने से पैरों के बीच में घर्षण होनें से गर्माहट पैदा होती है और आपको नीचे की तरफ खुजली और जलन की समस्‍या बढ़ सकती हैं।

Perfume

शास्त्रों के मुताबिक रात में परफ्यूम लगाना हमारे शास्त्रों में मना किया गया है। कहा जाता है कि रात के समय नकारात्मक शक्तियों का समय होता है। इस समय में ये शक्तियां सक्रिय होती हैं और किसी को भी अपने वश में कर लेती हैं।

यह खबर भी पढ़े: गर्मियों में चाय, कॉफी को छोड़ करें इस चीज का सेवन, गर्मी की इन समस्याओं से मिल जाएगी राहत

यह खबर भी पढ़े: रोज सुबह उठते हैं पि लें किशमिश का पानी, इन समस्याओं से मिल जायेगा छुटकारा...

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From lifestyle

Trending Now
Recommended