संजीवनी टुडे

आप दर्द से है परेशान तो अपनाये ये घरेलू नुस्खा, देखे वीडियो

संजीवनी टुडे 24-02-2018 22:17:48


डेस्क। हल्दी हर भारतीय रसाेई में मिल जाएगी। हल्दी खाने की चीजाे काे स्वादिष्ट व शरीर काे स्वस्थ्य बनाती हैं। चाेट लगने पर हल्दी लगाने से चाेट ठीक हाे जाती है।  एक शोध में कहा गया है कि दर्द में हल्दी पैरासिटामोल और आईबूप्रोफेन से अधिक लाभदायक होती है। हल्दी की ताकत काे ताे विदेशी भी जानते है। घर में बुजुर्गाेे से किसी भी चाेट या दर्द का इलाज इसे ही कहा जाता है। 

यह भी देखें: वीडियो : बीजेपी के इस सांसद ने स्कूल में शौचालय की अपने हाथो से की सफाई

एक शोध के दौरान पता चलता है कि हल्दी में पाए जाने वाले तत्व करक्यूमिन से तैयार उत्पाद हड्डी और मांसपेशियों से संबंधित दर्द में सुरक्षित दर्द निवारक हो सकते हैं। शोध के दौरान देखा गया जिन लोगों ने राहत पाने के लिए पारंपरिक दर्द निवारक दवाओं का सेवन किया उन्हें गैस्ट्रो संबंधी समस्याओं से भी जूझना पड़ा इतना ही नही पूर्व में हुए शोध में करक्यूमिन का सकारात्मक प्रभाव गठिया के मरीजों में देखा जा चुका है। हड्डियों और मांसपेशियों की समस्या का भी यही समाधान करती है। इसके अलावा यह कैंसर और हृदय संबंधी बीमारियों में भी अधिक कारगर है। 

ये भी देंखें वीडियो : बीजेपी के इस सांसद ने स्कूल में शौचालय की अपने हाथो से की सफाई 

जानिए हल्दी से हाेने वाले फायदे

हल्दी याद्दाश्त बढाती हैं
एक शोध के मुताबिक पता चला है कि हल्दी का सेवन याद्दाश्त बढ़ाने में मदद करता हैं। हल्दी में मौजूद तत्व करक्यूमिन मस्तिष्क के उन हिस्सों में प्रोटीन जमा नहीं होने देता है, जो याद्दाश्त और भावनाओं को देखते हैं।

ऑस्टियोपोरोसिसस में मिलें राहत

एक अन्य शोध में विशेषज्ञों का दावा है कि हल्दी में मौजूद तत्व करक्यूमिन से बुजुर्गों में होने वाली हड्डियों के क्षरण की समस्या ऑस्टियोपोरोसिस में भी राहत मिलती है। पिछले साल एक शोध में देखा गया हैं कि हल्दी का सेवन करने वाले बुजुर्गों की हड्डियों की सेहत में सुधार मिलता हैं। हल्दी वाले पूरक आहार लेने वाले बुजुर्गों की हड्डियों की सेहत छह माह में सात फीसदी तक बेहतर हुई।

sanjeevni app

More From lifestyle

Trending Now
Recommended