संजीवनी टुडे

अगर मौसम के बदलते ही हो गए हैं बीमार तो करें ये काम...

संजीवनी टुडे 20-02-2020 10:33:03

अक्सर मौसम बदलते ही हम कई बिमारियों की गिरफ में आने लगते हैं अगर आप भी सर्दी-जुकाम जैसी परेशानियों से जूझ रहें हैं तो आप इस जलनेति क्रिया को कर सकते हैं।


डेस्क। अक्सर मौसम बदलते ही हम कई बिमारियों की गिरफ में आने लगते हैं  अगर आप भी सर्दी-जुकाम जैसी परेशानियों से जूझ रहें हैं तो आप इस जलनेति क्रिया को कर सकते हैं। जलनेति क्रिया करने से केवल नाक बंद होने की समस्या से छुटकारा नहीं मिलता बल्कि आंखों में पानी आना और आंखों में जलन की समस्या से भी आराम मिलता है।

इस क्रिया को करने से और भी बहुत सारे लाभ हैं जैसे सिरदर्द, अनिद्रा, सुस्ती और बालों के झड़ना। साथ ही जलनेति क्रिया को करने वाले लोगों ने बताया कि इस क्रिया से उनके गुस्से को नियंत्रण रखने में भी मदद मिलती है।

lifestyle

- अगर आप बहुत ज़्यदा सिरदर्द से परेशान हैं तो यह क्रिया अत्यंत लाभकारी है।
-अनिद्रा से ग्रस्त व्यक्ति को इसका नियमित अभ्यास करनी चाहिए।
-सुस्ती में यह क्रिया अत्यंत लाभकारी होती है।
-अगर आपको बालों का गिरना बंद करना हो तो इस क्रिया का अभ्यास जरूर करें।

कैसे की जाती है जलनेती क्रिया

-जलनेति के लिए एक टोंटीदार लोटा चाहिए
-इसमें हल्का गर्म और स्वच्छ जल भल लो
-बर्तन को अपने दाहिने हाथ में पकड़ लीजिए
-सिर को थोड़ा ऊपर उठाते हुए मुंह से साँस लीजिए
-अपना सिर बायीं ओर झुकाइए
-दाहिनी ओर के नाक-द्वार पर लोटे की टोंटी लगाइए तथा पानी को नाक-द्वार से -अन्दर जाने दीजिए
-बायें नाक-द्वार से पानी गिरने लगेगा
-पानी को इसी प्रकार बहने दीजिए जब तक कि लोटा खाली न हो जाए
-अब धीरे से नाक के पानी को बाहर निकालिए
-इसी क्रिया को बायें से दायें नाक-द्वार में दोहरइए

lifestyle

सावधानी: 

जलनेति करने के समय इस बात का ख्याल जरुर रखें की नाक से सारा पानी निकल जाना चाहिए क्योंकि अगर नाक में पानी बचा रह जायेगा तो इससे सर्दी होने का खतरा बन सकता है।

पानी के ठीक से बाहर नही निकलने से बुखार भी आजता है और शरीर में संक्रमण हो जाता है। जलनेति के बाद नाक के पानी को निकालने के लिए एक छेद को बंद करके दूसरे छेद से और दूसरे छेद को बंद करके पहले वाले छेद से हवा को बाहर निकालें।

lifestyle

इस क्रिया को करने के बाद कपालभाति प्राणायाम करना चाहिए। इस प्राणायाम को करने से नाक का सारा पानी बाहर आ जाता है। वहीं, जलनेति की प्रक्रिया किसी विशेषज्ञ की देखरेख में ही करनी चाहिए और उसके द्वारा बताए गए निर्देशों का ही पालन करना चाहिए।

ये खबर भी पढ़े:  20 फरवरी 2020: जानिए आज का राशिफल

ये खबर भी पढ़े:  गुरुवार, 20 फरवरी: जानिए आज के सोने-चांदी के भाव

 जयपुर में प्लॉट मात्र 289/- प्रति sq. Feet में बुक करें 9314166166

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From lifestyle

Trending Now
Recommended