संजीवनी टुडे

इन संकेतो से पता करें आप मानसिक रूप से बहुत मजबूत हैं या नहीं

संजीवनी टुडे 12-06-2019 08:27:11

प्रकृति के द्वारा दी गई सबसे अनमोल धरोहर में से एक है मानव मस्तिष्क हैं मानसिक और भावनात्मक स्वास्थ्य हमारे समग्र स्वास्थ्य और भलाई का एक महत्वपूर्ण, अनिवार्य हिस्सा है जिसके कारण ही वह इस दुनिया के तमाम जीवधारियों में सर्वश्रेष्ठ माना जाता है।


डेस्क। प्रकृति के द्वारा दी गई सबसे अनमोल धरोहर में से एक है मानव मस्तिष्क हैं मानसिक और भावनात्मक स्वास्थ्य हमारे समग्र स्वास्थ्य और भलाई का एक महत्वपूर्ण, अनिवार्य हिस्सा है जिसके कारण ही वह इस दुनिया के तमाम जीवधारियों में सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। मानसिक स्वास्थ्य को बनाएं रखने के लिए आज लोग कई तरह की दवाओं और थेरेपी का सहारा ले रहे हैं, जिनके दुष्प्रभाव हो सकते हैं। मनुष्य अपने मस्तिष्क का प्रयोग करके ऊंचाई तक भी पहुंच सकता है और कभी-कभी यही मस्तिष्क असफलता की ऐसी गर्त में पहुंचा देता है जहां से निकलना असंभव होता है। दुनियाभर में हुए कई शोध के बाद कुछ ऐसी बातो का पता चला है जो साबित करते हैं कि व्यक्ति मानसिक रूप से बहुत मजबूत है। आइए जानते हैं कौन से हैं वह संकेत….

-मानसिक रूप से मजबूत लोग शिकायत करने की जगह काम करने में विश्वास रखते हैं। यदि आपने इन्हें कोई काम दिया है और वो इन्हें पसंद नहीं है या ये थक गए हैं तो ऐसे लोग शिकायत कर काम को टालने की बजाय उसे करना पसंद करते हैं। ये लोग कभी भी ऐसा नहीं सोचते कि दुनिया पर यह एहसान कर रहे हैं आप जानते हैं कि अच्छी चीजें काम करने पर ही प्राप्त होती हैं।

-रिसर्च बताती हैं कि मानसिक रूप से मजबूत लोग किसी भी परिस्थिति को जांचने परखने के बाद ही उसपर प्रतिक्रिया देते हैं। यही व्यवहार उन्हें दूसरों के आगे धैर्यवान बनाता है। ऐसे लोगों को अच्छी तरह से पता होता है कि धैर्य से किए जाने वाले सभी कार्य सफल होते हैं इसीलिए वह सफलता मिलने तक इंतजार करते हैं। ये लोग जानते हैं कि अपने लक्ष्य तक पहुंचने का कोई शॉर्टकट नहीं होता क्योंकि किसी भी फल को पकने में समय लगता है।

s

-अगर आप मानसिक रूप से मजबूत हैं तो आपके रास्ते में कितनी ही परेशानियां क्यों ना आ जाएं आप उनसे निकलने का हल ढूंढने में जुट जाते हैं बजाय उस हालात को मुश्किल मानकर रोने से। दुनियाभर में ऐसे कई उदाहरण मिलते हैं जिसमें लोगों ने मुश्किल से मुश्किल हालात में भी जिंदगी की जंग नहीं हारी। मशहूर दिवंगत वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग इसका सबसे बड़ा उदाहरण हैं। उन्हें मोटर न्यूरॉन नामक ऐसी बीमारी थी जिसमें उनका शरीर उनके बस में नहीं था लेकिन उन्होंने अपने मस्तिष्क के माध्यम से इतिहास रच दिया। तो यदि आप भी ऐसे लोगों में शुमार हैं जो कठिनाइयों से निकलने का रास्ता ढूंढते हैं और उससे परेशान नहीं होते तो समझिए आप मानसिक रूप से बहुत मजबूत हैं।

-रिसर्च बताती हैं कि आप अपने मस्तिष्क और शरीर को कंट्रोल करने में सक्षम हैं जीवन यापन के लिए सीमाएं तय करना बहुत जरूरी है। इससे आप मजबूती और संतोष का अनुभव करते हैं। इसीलिए आपको किसी का गुलाम बनने की जरूरत नहीं। मानसिक मजबूती आपको एक दृढ़निश्चयी और परिपक्व इंसान बनाता है।

s

-अगर आप हर बात में हां कह देते हैं तो यह खतरे की घंटी है। अपनी जिम्मेदारी पूरी करना अच्छी बात है लेकिन ना कहने की हिम्मत नहीं जुटा पाना आपको सम्मान से दूर रखता है। यदि आप जीवन में बैलेंस चाहते हैं तो “ना” कहना सीखिए। रिश्ते बिगाड़ने से अच्छा पहली बार में ही ना कहना ठीक है। इससे आप मानसिक रूप से स्वस्थ महसूस करेंगे और किसी भी तरह के तनाव से दूर रहेंगे।

मात्र 220000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314188188 

 

More From lifestyle

Trending Now
Recommended