संजीवनी टुडे

जरूरत से ज्यादा सोना भी हो सकता हैं खतरनाक, जानें कैसे

संजीवनी टुडे 01-07-2020 11:17:47

जिस प्रकार कम सोने से स्वास्थ्य को गंभीर नुकसान होता है, उसी तरह जरूरत से ज्यादा सोना भी अच्छा नहीं बताया गया है। अगर आप भी कई घंटों तक सो रहे हैं तो आप कई बीमारियों को बुलावा दे रहे हैं।


डेस्क। जिस प्रकार कम सोने से स्वास्थ्य को गंभीर नुकसान होता है, उसी तरह जरूरत से ज्यादा सोना भी अच्छा नहीं बताया गया है। अगर आप भी कई घंटों तक सो रहे हैं तो आप कई बीमारियों को बुलावा दे रहे हैं। आइए जानते हैं कैसे आपके लिए ज्यादा सोना खतरनाक हो सकता है। 

lifestyle

दिल की बीमारियों के होने का खतरा: ज्यादा सोने से दिल संबंधी बीमारियां होने का खतरा ज्यादा रहता है। एक अमेरिकन एकेडमी ऑफ स्लीप मेडिसिन में छपी स्टडी की मानें तो अधिक नींद दिल की बीमारियों के ख़तरे को बढ़ाती है। स्टडी कहती है कि महिलाएं जो 9 से 11 घंटे नींद लेती हैं उनमें दिल की बीमारियों की संभावना 38% तक बढ़ जाती है।

मोटापा: ज्यादा सोने से मोटापा बढ़ने का खतरा रहता है। मोटापा अपने आप में बुरी चीज है और कई बीमारियों की जड़ है। जाहिर है अधिक सोना यानी की नो फिजिकल एक्टिविटी और नो फिजिकल एक्टिविटी का मतलब है खाना, बैठना और घंटों सोना। वजन का बढ़ना तय है। खास बात यह है कि फिजिकल एक्टिविटी ना होने व अधिक सोने से डाइजेशन सिस्टम पर असर होता है और पाचन क्रिया धीमी होने से कब्जियत होती है और यही ओबेसिटी की वजह बनती है।

lifestyle

डायबिटीज का खतरा: अधिक सोने से फिजिकल एक्टिविटी ना के बराबर होती है जिससे शुगर का खतरा बढ़ जाता है। जर्नल पीएलओएस (PLoS) में छपी एक स्टडी कहती है कि 9 घंटे से ज़्यादा नींद शरीर में शूगर होने का खतरा बढ़ाती है।

डिप्रेशन की संभावना: जरूरत से ज्यादा  सोने से डिप्रेशन होने की संभावना भी रहती है। अगर कोई जरूरत से ज्यादा सोता है तो सुस्ती पैदा होती है और आलस्य भी बढ़ता है।

जरूरत से ज्यादा सोना डिप्रेशन का कारण बन सकता है। पीएलओएस में हाल ही में छपी एक स्टडी के मुताबिक ज्यादा सोना डिप्रेशन का कारण बन सकता है। इसके अलावा अधिक सोने से सुस्ती बनी रहती है। यह आलस्य और कार्य व दैनिक जीवन में कई चीजों के प्रति अरुचि को बढ़ाता है। जाहिर है ये सारी चीजें मनोवैज्ञानिक रूप से भी असर डालती है। बेहतर है कि आप जरूरत के अनुसार सोएं।

lifestyle

पीठ दर्द: अधिक सोने से पीठ दर्द की समस्या हो सकती है। यदि आपका काम कंप्यूटर पर है और एक ओर कुर्सी पर बैठकर घंटों काम करते हैं और दूसरी ओर ज्यादा देर तक सोते हैं तो यह आपकी पीठ दर्द का कारण बन सकता है। इसके अलावा यह आपकी गर्दन, व कंधों में भी दर्द का कारण बन सकता है। कई बार पीठ दर्द, कमर दर्द और गर्दन व कंधे के दर्द के पीछे ठीक से ब्लड सकुर्लेशन का ना होना होता है। ऐसे में यदि आप बैठ रहते हैं या फिर सोते रहते हैं और एक्सरसाइज नहीं करते हैं तो अधिक सोना आपके लिए मुश्किल खड़ी कर सकता है।

यह खबर भी पढ़े: रातभर बकरी के दूध में गलाकर सुबह उठते ही खा लें चार से पांच खजूर, फिर देखे कमाल

यह खबर भी पढ़े: तेजपत्ते का अपनी सेहत के लिए ऐसे करे इस्तेमाल, मिलेगा लाभ…

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From lifestyle

Trending Now
Recommended