संजीवनी टुडे

संध्या के समय गलती से भी न करें ये 5 काम, वरना...

संजीवनी टुडे 14-10-2020 04:50:00

शास्‍त्रों और पुराणों में बेहतर और खुशहाल जीवन जीने के कई न‌ियम बताए गए हैं। शास्त्रों के अनुसार इंसान द्वारा किए जाने वाले हर काम का उसके जीवन पर प्रभाव पड़ता है।


डेस्क। शास्‍त्रों और पुराणों में बेहतर और खुशहाल जीवन जीने के कई न‌ियम बताए गए हैं। शास्त्रों के अनुसार इंसान द्वारा किए जाने वाले हर काम का उसके जीवन पर प्रभाव पड़ता है। अपने इन्हीं कर्मों के प्रभाव से ही व्यक्ति स्वस्थ्य और बीमार होता है। संध्या के समय भूलकर भी नहीं करने चाहिए। आइए जाने कौन से हैं वे चार काम...  

evening

झूठे बर्तन ना छोड़े: यदि आप अपने परिवार में सभी प्रकार की खुशियां चाहते हो तो आपको रात के समय रसोई घर में कभी भी झूठे बर्तन नहीं छोड़ने चाहिए। सोने से पहले आपको झूठे बर्तनों को हमेशा साफ करना चाहिए। ताकि मां लक्ष्मी की कृपा आप पर हमेशा बनी रहें।

न करें भोजन: सूर्यास्त के समय भोजन नहीं करना चाहिए। ऐसा करने से अगले जन्म में पशु योनी में जन्म मिलता है।

evening

शाम के समय सोऐं नहीं: शाम के समय बीमार और बच्चों के अलावा किसी भी स्वस्थ व्यक्ति को नहीं सोना चाहिए। क्योंकि इस समय सोने से व्यक्ति  बीमार होता है और माता लक्ष्मी जी भी नाराज होती हैं। 

न करें शास्त्रों का अध्ययन:  शाम के समय वेद और शास्त्रों का अध्ययन भी नहीं करना चाहिए। इस समय सिर्फ ध्यान और साधना ही लाभप्रद होती है।

evening

स्त्री-पुरूष प्रसंग से बचे: सूर्यास्त दिन और रात का संधिकाल होने से ध्यान और साधना का समय होता है। इस समय काम भाव को नियंत्रित रखना चाहिए और स्त्री-पुरूष प्रसंग से बचना चाहिए। इस समय गर्भधारण से उत्पन्न संतान संस्कारी नहीं होती है।

यह खबर भी पढ़े: राष्ट्रीय कामधेनु आयोग का दावा: गाय के गोबर से बना चिप खतरनाक मोबाइल रेडिएशन से बचाने का करेगा काम

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From lifestyle

Trending Now
Recommended