संजीवनी टुडे

खाना खाने के बाद रोज करें ये आसन, कभी नहीं होगी पाचन संबंधी समस्याएं

संजीवनी टुडे 12-06-2019 11:36:11

आप सब जानते है योगा कई बिमारियों का दुश्मन होता हैं। योगा हमारे लिए बहुत ही फायदेमंद होता हैं योगा का वास्तविक लाभ तभी मिलता है, जब उसे करते समय नियमों व सावधानी पर गौर किया जाए। लेकिन वज्रासन अकेला ऐसा आसन है, जिसे आप खाना खाने के तुरंत बाद कर सकते हैं।


डेस्क। आप सब जानते है योगा कई बिमारियों का दुश्मन होता हैं। योगा हमारे लिए बहुत ही फायदेमंद होता हैं योगा का वास्तविक लाभ तभी मिलता है, जब उसे करते समय नियमों व सावधानी पर गौर किया जाए। योग और रोग दोनों का छत्तीस का आंकड़ा है । दोनों एक दूसरे के दुश्मन है जो लोग नित्य योग करते है उन्हें कभी रोग नही होता। चाहें वजन कम करना हो या फिर कोई पुराना रोग दूर भागना हो योग से अच्छा उपाय कोई नही है। आमतौर पर योगासनों को खाली पेट या सुबह के समय करने की सलाह दी जाती है। लेकिन वज्रासन अकेला ऐसा आसन है, जिसे आप खाना खाने के तुरंत बाद कर सकते हैं। इतना ही नहीं, अगर आप खाने के बाद वज्रासन का अभ्यास करते हैं तो इससे भोजन के पाचन में भी आसानी होती है। तो चलिए जानते हैं वज्रासन करने का तरीका और उससे होने वाले लाभों के बारे में। 

वज्रासन करने का तरीका

वज्रासन करने के लिए एक समतल ओर साफ जगह पर बैठ जाये । इसे भोजन के कम से कम 15 से 20 मिनट के बाद किया जा सकता है। 

वज्रासन करने के लिए घुटनों के बल जमीन पर बैठ जाएं। इस दौरान दोनों पैरों के अंगुठों को साथ में मिलाएं और एडि़यों को अलग रखें। 

ddd

अब अपने नितंबों को एडि़यों पर टिकाएं। साथ ही अपनर हथेलियां को घुटनों पर रख दें। 

इस दौरान अपनी पीठ और सिर को सीधा रखें। ध्यान रखें कि इस दौरान आपके दोनों घुटने आपस में मिले हों। 

अब अपनी आंखें बंद कर लें और सामान्य रूप से सांस लेते रहें। इस अवस्था में जब तक संभव हो, आप बैठने का प्रयास करें। 

वज्रासन के फायदे 

-भोजन के बाद यह आसन इसलिए किया जाता है कि खाया हुआ खाना अच्छी तरह पच सके जिससे की अतिरिक्त वजन से छुटकारा मिल जाये।

इस आसन में बैठने के कारण जो भी अतिरिक्त चर्बी होती है वह काम होती हुई चलती है । नितम्ब , कमर सुंदर पर आकर्षक दिखाई देने लगते है ।

-जो लोग नियमित रूप से इसका अभ्यास करते हैं, उन्हें पाचन संबंधी समस्याएं जैसे कब्ज, एसिडिटी और अल्सर आदि की समस्या नहीं होती।

इसके अतिरिक्त इस आसन के अभ्यास के दौरान व्यक्ति का पूरा शरीर खासतौर से पीठ तनी होती है,जिससे शरीर मजबूत बनता है। और पीठ के निचले हिस्से की समस्या और साइटिका की समस्या से राहत दिलाता है। 

सावधानी

वैसे तो वज्रासन का अभ्यास कोई भी व्यक्ति कभी भी कर सकता है। लेकिन फिर भी इसका अभ्यास करते समय कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए। 

ddd

सबसे पहले तो इसका अभ्यास करते हुए अपने बॉडी पॉश्चर पर ध्यान दें। इसके अतिरिक्त अगर आपके घुटनों में कोई समस्या है या हाल ही में घुटने की सर्जरी हुई है, तो यह आसन न करें। 

जिन लोगो को रीढ़ की हड्डी में समस्या, हर्निया, आंतों में अल्सर होने पर भी विशेषज्ञ की देखरेख के बिना इस आसन का अभ्यास नहीं करना चाहिए।

मात्र 220000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314188188 

 

More From lifestyle

Trending Now
Recommended