संजीवनी टुडे

अमृत है गाय का घी, जानिए इसके अचूक फायदे

संजीवनी टुडे 09-06-2019 09:42:22

अक्सर ज्यादातर लोग घी की बात सुनते ही मूंह बना लेते हैं। अगर आप यह सोच कर देसी घी से दूरी बनाए रखते हैं कि यह आपकी सेहत के लिए नुकसानदायक होता है तो आप ग़लत सोचते हैं। गाय के घी को अमृत कहा गया है जो जवानी को कायम रखते हुए बुढ़ापे को दूर रखता है । ऐसी मान्यता है कि काली गाय का घी खाने से बूढ़ा व्यक्ति भी जवान जैसा हो जाता है। गाय के दूध से बना शुद्ध घी, जो कि एक प्रकार की दवा भी माना जाता है।


डेस्क। अक्सर ज्यादातर लोग घी की बात सुनते ही मूंह बना लेते  हैं। अगर आप यह सोच कर देसी घी से दूरी बनाए रखते हैं कि यह आपकी सेहत के लिए नुकसानदायक  होता है तो आप ग़लत सोचते हैं। गाय के घी को अमृत कहा गया है जो जवानी को कायम रखते हुए बुढ़ापे को दूर रखता है । ऐसी मान्यता है कि काली गाय का घी खाने से बूढ़ा व्यक्ति भी जवान जैसा हो जाता है। गाय के दूध से बना शुद्ध घी, जो कि एक प्रकार की दवा भी माना जाता है। जिस प्रकार गाय के दूध में खूब सारी एनर्जी होती है उसी प्रकार देशी घी खाने वाले भी एनर्जी से भरपूर होते हैं। आयुर्वेद में भी गाय के घी के कई फ़ायदे गिनाए गए हैं. माना जाता है कि गाय के घी के नियमित सेवन से शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा सही रहती है, साथ ही यह शरीर में कैंसरकारक सेल्स को भी बढ़ने नहीं देता। माइग्रेन के मरीज़ों के लिए गाय का शुद्ध देसी घी रामबाण औषधि माना जाता है। यही नहीं, धारणा के उलट गाय के घी का सेवन वज़न को कंट्रोल रखने में मदद करता है। जानिए गाय के घी के फ़ायदे 

रोज़ाना कितनी मात्रा में लें

रोज़ाना एक टीस्पून घी ज़रूरी है। यह मानसिक व शारीरिक रूप से व्यक्ति को मज़बूत बनाता है और शरीर की गंदगी को साफ करने के लिए भी काम करता है। घी में विटमिन के, डी, ई और ए पाया जाता है, जो ब्लड सेल में जमा कैल्शियम को हटाने का काम करता है।

दिल के लिए फ़ायदेमंद: गाय का घी दिल समेत कई बीमारियों को दूर करने में सहायक होता है। हार्ट में ब्लॉकेज होने पर देसी घी एक ल्यूब्रिकेंट की तरह काम करता है। जिसे हार्ट अटैक की तकलीफ है और चिकनाई खाने की मनाही है, वह गाय का घी खाए, इससे दिल मज़बूत होता है।

s

पाचन शक्ति बढ़ाये: घी का स्मोकिंग पॉइंट दूसरे फैट की तुलना में बहुत अधिक है। यही कारण है कि पकाते समय आसानी से नहीं जलता। घी में स्थिर सेचुरेटेड बॉण्ड्स बहुत अधिक होते हैं, जिससे फ्री रेडिकल्स निकलने की आशंका बहुत कम होती है। घी की छोटी फैटी एसिड की चेन को शरीर बहुत जल्दी पचा लेता है। जिससे आपकी पाचन शक्ति अच्‍छी रहती है।

कैंसर से लड़े : देसी घी में सूक्ष्म जीवाणु, एंटी-कैंसर और एंटी-वायरल जैसे तत्व मौजूद होते हैं जो कई बीमारियों से लड़ने में मदद करते हैं। गाय के घी में कैंसर से लड़ने की अचूक क्षमता होती है। इसके सेवन से स्तन तथा आंत के ख़तरनाक कैंसर से बचा जा सकता है। गाय का घी न स़िर्फ कैंसर को पैदा होने से रोकता है, बल्कि इस बीमारी के फैलने से भी आश्चर्यजनक ढंग से रोकता है। 

मेटाबॉलिजम रखे सही: घी शरीर में जमे फैट को गला कर विटमिन में बदलने का काम करता है। इसमें चेन फैटी एसिड्स कम मात्रा में होते हैं, जिससे आपका खाना जल्दी डाइजेस्ट होता है और मेटाबॉलिजम सही रहता है। दाल या सबजी में देसी घी मिलाकर खाने से खाना सुपाच्य हो जाता है।

s

 पागलपन दूर: गाय का घी नाक में डालने से पागलपन दूर होता है। गाय का घी नाक में डालने से एलर्जी खत्म हो जाती है। गाय का घी नाक में डालने से लकवा का रोग में भी उपचार होता है। घी व मिश्री खिलाने से शराब, भांग व गांझे का नशा कम हो जाता है।

स्किन बनाए बेहतर : गाय के घी में बहुत अधिक मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं, जो फ्री रेडिकल्स से लड़कर चेहरे की चमक बरक़रार रखते हैं। साथ ही यह त्वचा को मुलायम बनाता है और नमी प्रदान करता है। त्वचा को पोषण देने के साथ-साथ इसका रुखापन भी कम करता है। चेहरे पर देसी घी की रोज़ाना हल्की मालिश रिंकल्स को अर्से तक दूर रखेगी। 

नोटः अगर आप गाय का देसी घी का सेवन शुरू करने जा रहे हैं तो एक बार किसी आयुर्वेदिक डॉक्टर की सलाह ज़रूर ले लें। इससे आपको अपनी समस्या के अनुसार सही मात्रा में घी खाने की गाइडेंस मिलेगी। ऐसा न करने पर समस्या बढ़ भी सकती है।

मात्र 220000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314188188

More From lifestyle

Trending Now
Recommended