संजीवनी टुडे

संक्रमण से बचने के लिए मधुमेह के रोगी मानसून में रखें खास ख्याल ....

संजीवनी टुडे 16-07-2017 11:01:16

To avoid infection  keep in mind the diabetes patient in monsoon

नई दिल्ली। मानसून के मौसम में उमस, पसीना और नमी से फंगस व अन्य सूक्ष्म जीव पैदा होते हैं, ऐसे में मधुमेह रोगियों को अपने पैरों का खास ख्याल रखना चाहिए। मानसून में पैरों में फंगस का संक्रमण हो सकता है और अगर यह ठीक न हुआ तो गैंगरीन बन सकता है, जिसमें पैर काटने तक की नौबत आ जाती है। आईये आपको बताते है, कैसे रखे अपने पैरों का ख़्याल....


मानसून में मधुमेह रोगियों को नॉयलॉन के मोजों की जगह कॉटन के मोजे पहनने चाहिए। अपने मोजों को रोजाना बदलिए और गीले मोज़ों को बदलने में देरी ना करें। 


डायबिटिक फुट के मरीजों के लिए नंगे पांव चलना अच्छा नहीं होता क्योंकि ऐसे में घावों के होने की अधिक संभावना रहती है। और कीटाणुओं और सूक्ष्मजीवों को बढ़ने का मौका मिलता है। यहां तक कि जब आप अपने घर में हैं तब भी जूते या चप्पल पहनें।

 
गीले पैरों को ठीक प्रकार से साफ करने के बाद उन्हें सुखाने के बाद ही जूते पहनें। ऐसे मौसम में आसानी से सूखने वाले खुले जूते चप्पलें पहनें। हफ्ते में एक दिन जूतों को कुछ देर धूप में रखें, जिससे उसमें मौजूद सूक्ष्मजीवी या फफूंद नष्ट हो जायें।
 

घाव, कटना और कॉर्न्स नियमित रूप से जांच करते रहे। यदि आप की पैरो की त्वचा रूखी है या फिर उसमें खुजली है, तो डॉक्‍टर से परामर्श करें। पैरों की सफाई का भी खास ख्याल रखें। पैरों को गुनगुने पानी और नरम साबुन के साथ डिटॅल डालकर नियमित रूप से धोएं। उसके बाद साफ़ तौलिये से अच्छे से पोंछकर ही जूते पहनें। ध्यान रखें कि उंगलियों के बीच भी पानी नही रहना चाहिए।

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !

 

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188

More From lifestyle

loading...
Trending Now
Recommended