संजीवनी टुडे

कृषि विभाग के कई संस्थानों का सचिव ने किया दौरा

संजीवनी टुडे 24-10-2020 09:28:01

झारखंड के कृषि पशुपालन एवं सहकारिता विभाग के सचिव अबुबक्कर सिद्दीख ने शुक्रवार को रांची स्थित कृषि विभाग के कई संस्थानों का दौरा किया।


रांची। झारखंड के कृषि पशुपालन एवं सहकारिता विभाग के सचिव अबुबक्कर सिद्दीख ने शुक्रवार को रांची स्थित कृषि विभाग के कई संस्थानों का दौरा किया। उन्होंने केंद्र और राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं का निरीक्षण किया। इस दौरान कई त्रुटियां मिलने पर उन्होंने विभागीय अधिकारियों को सही तरीके से काम करने के निर्देश दिए। 

कृषि सचिव सबसे पहले नगड़ी स्थित झारखंड एग्रीकल्चर एंड सोएल मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट (जस्मीन) पहुंचे ,जहां उन्होंने प्रशिक्षण केंद्र का मुआयना किया और उसके रख-रखाव की व्यवस्था को सही तरीके से करने का निर्देश दिया। उन्होंने वहां चल रही योजनाओं के विषय में जानकारी प्राप्त की और जस्मीन के सीईओ को निर्देश दिया कि नर्सरी में उच्च गुणवत्ता वाले पौधे के रख-रखाव को बेहतर किया जाए और नर्सरी से कैसे राजस्व की प्राप्ति की जाए, इस पर कार्य योजना बनाई जाए।

कृषि सचिव ने खुद चलाया ट्रैक्टर
कृषि सचिव ने हेहल स्थित झारखंड एग्रीकल्चर मशीनरी परीक्षण एवं प्रशिक्षण केंद्र का भी निरीक्षण किया। उन्होंने वहां के अधिकारियों से केंद्र की जो योजनाएं चल रही हैं उसकी जानकारी ली। यही नहीं वहां उन्होंने पावर टिलर ,रीपर ,मिनी टिलर , कई मशीनों को खुद चेक किया और उसकी उपयोगिता को जाना। उन्होंने स्वयं मिनी ट्रैक्टर चला कर देखा। 

किसानों को दें उचित प्रशिक्षण
कृषि सचिव सिद्दीख ने किसानों को अधिक से अधिक खेती के क्षेत्र में प्रोत्साहित करने के लिए प्रशिक्षण देने की बातें कहीं। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के नियमों को देखते हुए सामाजिक दूरी का पालन करते हुए प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू किया जाए और स्थानीय आवश्यकताओं के अनुरूप कृषि तकनीक और फार्म मैकेनिज्म को बढ़ावा दिया जाए। राज्य के अंदर हाईटेक नर्सरी के रख-रखाव और उन्नत प्रजाति की सब्जियां और फलदार पौधों को आवश्यकता के अनुरूप लगाया जाए जिसका सीधा लाभ राज्य के किसानों और आम जनता को मिले। 

पॉलीहाउस की जर्जर स्थिति पर जताई नाराजगी
कृषि सचिव नगड़ी स्थित सहकारिता विभाग के पॉलीहाउस को भी देखने गए, जहां उन्होंने पॉलीहाउस के सही तरीके से रख-रखाव नहीं किए जाने पर नाराजगी व्यक्त की और उन्होंने कहा कि करोड़ों रुपये के पॉलीहाउस यूं ही रखरखाव के अभाव में बर्बाद हो रहे हैं। उन्होंने इसे बेहतर बनाने का निर्देश दिया। कृषि सचिव ने कहा कि जो भी कंपनियां विभाग के अंतर्गत किसानों की योजनाओं के लिए काम करती हैं उनके कार्यों का सही तरीके से मूल्यांकन किया जाए। उन्होंने कहा कि जहां भी कृषि के क्षेत्र में परेशानी हो रही है। विभाग का सहयोग वहां ले और राज्य और केंद्र सरकार द्वारा दी गयी सभी योजनाओं से किसानों को 100 फ़ीसदी लाभान्वित करने का काम करें। 

यह खबर भी पढ़े: राहुल गांधी ने बदलाव संकल्प रैली में प्रधानमंत्री मोदी पर बोला जमकर हमला

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From jharkhand

Trending Now
Recommended