संजीवनी टुडे

आप नहीं जानते होंगे आखिर क्यों होती है दवाइयों के पत्ते में खाली जगह, जानिए इसका राज!

संजीवनी टुडे 19-02-2020 08:24:46

अक्सर हम दवाइयों की दुकान से कोई भी दवाई खरीदते हैं तो उनमें से अधिकतर दवाइयों के पत्तों में एक ही मेडिसिन होती है। मगर एक मेडिसिन के चारों ओर ठीक उसी तरह मेडिसिन के लिए जगह छोड़ी जाती है। क्या आपने कभी सोचा है कि दवाइयों के पत्तों पर वो खाली स्पेस क्यों होती है?


डेस्क। अक्सर हम दवाइयों की दुकान से कोई भी दवाई खरीदते हैं तो उनमें से अधिकतर दवाइयों के पत्तों में एक ही मेडिसिन होती है। मगर एक मेडिसिन के चारों ओर ठीक उसी तरह मेडिसिन के लिए जगह छोड़ी जाती है। क्या आपने कभी सोचा है कि दवाइयों के पत्तों पर वो खाली स्पेस क्यों होती है? वो गोली के आकर की खाली जगहें जिनमें दवाइयां नहीं होती। आपको भी लगता होगा कि जब इन स्पेसेस में दवाई नहीं होती, तो इन्हें बनाया ही क्यों जाता है?  ये सवाल हम में से कई लोगों के दिमाग में आता है।

medicine

दरअसल दवाईयों के बीच होने वाली खाली स्पेस दवाइयों के केमिकल को आपस मे मिलने से रोकती है। ये बात आप शायद नहीं जानते हों कि ये कैमिकल आपस में रिएक्शन कर सकते हैं और इस से दवाइयां खराब हो जाती है। इसलिए इन दवाइयों को खराब होने से बचाने के लिए ये जगह खाली छोड़ी जाती है। इस से ये दवाइयां सुरक्षित रहती है। इसी स्पेस की वजह से हम पत्तों को आसानी से काट भी लेते हैं।

दवाइयों को एक जगह से दूसरी जगह पहुंचाने के लिए भी यह स्पेस काम आता है। ये एक तरह से कुशनिंग इफेक्ट की तरह काम करती है। इन खाली स्पेस से दवाइयां पैकेजिंग मशीन में भी नहीं फंसती है।

medicine

इसका एक कारण यह भी है कि इनकी मदद से दवाई के पत्ते के पीछे लिखी पूरी इन्फॉर्मेशन पढ़ने में मदद मिलती है क्योकिं कई बार पूरे पत्ते में केवल एक ही गोली बचती है ऐसे में हम आसानी से उसी एक गोली के पीछे ही दवाई से जुड़ी पूरी जानकारी पढ़ सकते हैं , जैसे दवाई की एक्सपायरी डेट , डोज़ आदि। इसके लिए खाली स्पेस बनाये जाते हैं।

medicine

सभी दवाई के पत्तों में यह स्पेस नहीं होता है। इसके अलावा सही डोज के लिए भी ये स्पेस होता है ताकि आप कम ज्यादा ना लें।

ये खबर भी पढ़े:  बुधवार, 19 फरवरी: जानिए आज के सोने-चांदी के भाव

ये खबर भी पढ़े:  19 फरवरी 2020: जानिए आज का राशिफल

 जयपुर में प्लॉट मात्र 289/- प्रति sq. Feet में बुक करें 9314166166 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From interesting-news

Trending Now
Recommended