संजीवनी टुडे

त्रिशला फाउंडेशन ने किया विश्व के पहले ‘सीपी गांव’ का शिलान्यास

संजीवनी टुडे 14-06-2019 17:46:40

प्रयागराज में बन रहा यह केन्द्र सेरेब्रल पालसी के इलाज में एक मील का पत्थर साबित होगा।


प्रयागराज। प्रयागराज में बन रहा यह केन्द्र सेरेब्रल पालसी के इलाज में एक मील का पत्थर साबित होगा। समाज में इन बच्चों को आगे लाने के लिए त्रिशला फाउंडेशन का यह कार्य सराहनीय है। ऐसा कम ही देखने को मिलता है कि लोग समाज के लिए आगे आकर काम कर रहे हैं।

यह बातें इंग्लैंड से आए संत बाबा करनैल सिंह एवं पंडित देशराज मिश्र ने ‘सीपी गांव’ की आधारशिला रखने के उपरान्त लोगों को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने आगे कहा कि डाॅ. जेके जैन ने सेरेब्रल पालसी के क्षेत्र में काम करके निराश हो चुके तमाम परिवारों को एक नई दिशा दिखाने का काम किया है। 

प्रयागराज में प्रतापगढ़ रोड पर सराय बिरसिंहपुर उर्फ सराय बाहर गांव में शुक्रवार को त्रिशला फाउंडेशन ने विश्व में पहला सेरेब्रल पालसी केन्द्र (सीपी गांव) का शिलान्यास व सर्वधर्म प्रार्थना सभा का आयोजन किया। इस अवसर पर त्रिशला फाउंडेशन के अध्यक्ष डाॅ. जेके जैन ने बताया कि सेरेब्रल पाल्सी (सीपी) ऐसा रोग है जिसमें दिमागी अक्षमता के कारण चलने-फिरने और अनैच्छिक क्रियाओं पर नियंत्रण समाप्त हो जाता है।

इस बीमारी से देश में 40 लाख बच्चे और यूपी में अकेले दो लाख बच्चे ग्रसित हैं। इसमें बैठने-उठने व चलने-देखने आदि समस्या के साथ-साथ बार-बार बीमार होने तथा दौरे पड़ने की समस्या होती है। उनके परिवारों को मानसिक एवं शारीरिक समस्याओं से गुजरना पड़ता है। उन्होंने कहा कि 12 अगस्त 2014 में त्रिशला की शुरुआत इसी उद्देश्य से की गयी थी कि कोई भी सीपी बच्चा छूटने न पाये।

सभी के सहयोग से आज यह कई गुना बढ़ गया है। उन्होंने कहा कि यह विश्व का पहला प्रोजेक्ट होगा, जिसमें प्रथम चरण में 78 परिवार के लिए व्यवस्था की गयी है। यह प्रोजेक्ट तीन चरणों में होगा और कुल 500 बच्चों के लिए सभी सुविधाएं रहेगी। 

डाॅ. जैन ने बताया कि सीपी गांव का निर्माण तीन चरणों में किया जायेगा। प्रथम चरण में 1350 वर्ग मीटर में 78 परिवारों के रूकने की व्यवस्था होगी, जहां पुनर्वास केन्द्र, सीपी होम में रूकने वाले बच्चों की सभी सुविधाएं उपलब्ध होंगी। द्वितीय चरण में एक हजार वर्गमीटर में तीन मंजिला विश्व स्तरीय पुनर्वास केन्द्र की स्थापना और आर्थोटिक कार्यशाला की स्थापना की जायेगी। 

तृतीय चरण में दिव्यांग बच्चों की पढ़ाई-लिखाई के लिए एक स्कूल की स्थापना की जायेगी, जिसमें सामान्य बच्चे भी शामिल होंगे। इस दौरान संस्था की सचिव डाॅ. वारिद माला जैन, डाॅ. शान्ति चौधरी, वरिष्ठ पत्रकार रमा शंकर श्रीवास्तव सहित कई विधायक, ब्लाक प्रमुख सोरांव, एसडीएम सोरांव, सीओ सोरांव सहित अन्य कई वरिष्ठ डाॅक्टर आदि उपस्थित रहे।

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

More From interesting-news

Trending Now
Recommended