संजीवनी टुडे

आमंत्रण-निमंत्रण में होता है काफी फर्क, जानिए दोनों में अंतर

संजीवनी टुडे 20-09-2019 16:31:11

जब भी हम किसी को अपने घर पर बुलाते हैं तो उसे आमंत्रण या फिर निमंत्रण देते हैं।


नई दिल्ली। जब भी हम किसी को अपने घर पर बुलाते हैं तो उसे आमंत्रण या फिर निमंत्रण देते हैं। किन्तु आपकी जानकारी हेतु बता दें कि दोनों में काफी अंतर होता हैं। 

यह खबर भी पढ़े:न्यूज़ पढ़ते-पढ़ते अचानक कुर्सी से गिर पड़े पाक एंकर, देखें VIDEO

आमंत्रण
आमंत्रण का मतलब भी किसी को बुलाना ही होता है। जब   कभी भी कहीं कोई सामाजिक कार्यक्रम आयोजित किया जाता है। वहां पर सभी लोगो को आमंत्रित किया जाता है। आमंत्रण में लोगों की लालसा पर बात होती है कि उनकी इच्छा हो रही है आने की या फिर नहीं। उसमे कुछ खास नहीं की आपको आना ही आना है वो उसकी अभिलाषा पर निर्भर करता है। इसी को आप आमंत्रण बोलते हैं। 
 
निमंत्रण
निमंत्रण का मतलब भी किसी को बुलाना ही होता है। निमंत्रण किसी को आदर पूर्वक अपने घर बुलाना होता है। किसी के घर में शादी है या फिर चूड़ा कर्म है तो उसमें आप सबको निमंत्रण भेजते है। यहां पर आप किसी को अपने घर आमंत्रित नहीं करते हो। मतलब इसमें सभी को आना ही होता है। 

निमंत्रण का मतलब है कि आपको आना ही आना है, आप इंकार नहीं कर सकते। यदि आपको निमंत्रण दे रखा है एवं आप नहीं गए तो इसमें उनको दुख होगा कि आप नहीं आए। बस दोनों में यही अंतर हैं। 

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From interesting-news

Trending Now
Recommended