संजीवनी टुडे

जख्मी बंदर खुद का उपचार करवाने पहुंचा दवा की दुकान, देखकर हर कोई रह गया हैरान

संजीवनी टुडे 21-11-2019 01:30:00

झारखंड के बीरभूम के मल्लारपुर स्टेशन से एक हैरान करने वाली घटना सामने आई है।


नई दिल्ली। झारखंड के बीरभूम के मल्लारपुर स्टेशन से एक  हैरान करने वाली घटना सामने आई है। दरअसल यहां पर दो बंदरों की खतरनाक लड़ाई हो गई थी जिसमें एक बंदर काफी जख्मी हो गया। कहा गया है कि बंदरों की इस लड़ाई को अनेक  लोगों ने देखा। हालांकि लोगों ने यह लड़ाई समाप्त कराने की कोशिश भी की किन्तु वो लड़ते रहे। 

sg

यह खबर भी पढ़े:तीन दशक पहले स्वतंत्र हुए इस देश की प्रति व्यक्ति आय भारत से है 60 गुना अधिक, जानें विस्तृत विवरण

परन्तु कहानी में क्लाईमैक्स तब आया जब लड़ाई में जख्मी एक बंदर लोगों की नजर के समक्ष बैठा हुआ था जिसके शरीर पर बहुत जख्म हो गए थे। हालांकि जैसे ही विरोधी बंदर वहां से दूर हुआ तो जख्मी बंदर एक ऑटो पर सवार हो गया। इस ऑटो में अन्य यात्री भी सवार थे। ऑटो चालक ने उसे शांत देखकर गाड़ी आगे बढ़ाया। 

किन्तु जैसे ही रास्ते में एक दवाई की दुकान नजर आई। बंदर ऑटो से उतरकर सीधे दवाई की दुकान पर जा पहुंचा। उसे ऐसा करते देख ऑटो चालक व  यात्री भी ठहर गए। तत्पश्चात बंदर दवाई दुकान के काउंटर पर चढ़ गया एवं इशारे से अपना घाव भी दिखाने लगा। ये अवस्था देखकर दो स्थानीय युवक वहां आ गए। 

लोगों ने बंदर की इच्छा को समझते हुए उसे भिन्न ले जाकर बैठाया तथा उसके घावों पर मरहम लगाए तथा पानी में घोलकर कुछ दवाई भी पिलाई गई। इस दौरान बंदर एकदम चुप बैठा रहा। तत्पश्चात जब लोगों ने उसे इशारे से कहा कि उसका उपचार हो चुका है तो वह बाहर निकल गया व फिर से एक ऑटो पर सवार हो गया।

sg

हालांकि इस वारदात को लेकर अलीपुर चिड़ियाघर के प्रशासक आशीष कुमार सामंत के मुताबिक, हाव भाव से ही स्पष्ट हो जाता है कि वो जंगली बंदर नहीं था। क्योंकि बहुत वक्त से जनसंख्या के बीच रहते हुए उसने इंसानों की गतिविधियों को सीख लिया था। 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From interesting-news

Trending Now
Recommended