संजीवनी टुडे

यहां सरेआम किया गया कानून का उल्लंघन, 30 हजार जानवरों की दी गई एक साथ बलि

संजीवनी टुडे 06-12-2019 02:30:00

एकाध-बार ऐसा भी होता है कि आस्था के नाम पर देश तक झुक जाता है।


नई दिल्ली। एकाध-बार ऐसा भी होता है कि आस्था के नाम पर देश तक झुक जाता है। कुछ ही दिन पहले एक ऐसा ही वाकया हुआ है जिसके कारण देश के कानून का सरेआम उल्लंघन किया। इसी के तहत 30 हजार जानवरों की हिंदू मंदिर परिसर में एकसाथ बलि दी गई।

sg fg

यह खबर भी पढ़े:OMG: यहां दफन हैं 50 लाख से भी ज्यादा लोग, जानिए इसके पीछे का रहस्य!

दरअसल, पशुओं की बलि दिए जाने का ये कार्य नेपाल के गढ़ीमाई मंदिर में 5 वर्ष में एक बार लगने वाले मेले में हुआ है। इस मेले के वक्त पशुओं की बलि देने से संबंधित अनुष्ठान होता है जो विश्ब भर में चर्चित है। इस पर्व में 2 दिनों तक मंदिर परिसर में बने बूचड़खाने में भैंस समेत 30 हजार से ज्यादा जानवरों की बलि दी जाती है। 

हालांकि, बलि के विरुद्ध पशु अधिकार कार्यकर्ता आवाज उठाते हैं, किन्तु इसका कोई प्रभाव नहीं होता। इतना ही नहीं, नेपाल के उच्चतम न्यायालय ने भी इस बारे में निर्देश जारी किए हैं,  परन्तु आस्था के आगे इन सभी को नजरअंदाज किया जाता है।

sg fg

आपकी जानकारी हेतु बता दें कि मंदिर परिसर में होने वाले सामूहिक वध में पूर्व चूहों, कबूतरों, मुर्गियों, बत्तखों, सूअरों व  भैंसों की बलि दी जाती है। बीते पर्व में मंदिर के मेले में हजारों दूसरे पशुओं संग लगभग 10,000 भैंसों को मारा गया था। ऐसे में ये स्थान इतनी बड़ी संख्या में जानवरों के वध का विश्व का सबसे बड़ा स्थल बन जाता है।

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From interesting-news

Trending Now
Recommended