संजीवनी टुडे

इस गुफा में चूना-पत्थर के ढेर से लगता है बाढ़-सूखे का अनुमान

संजीवनी टुडे 10-08-2019 12:10:40

हिंदुस्तान के पूर्वोत्तर राज्य मेघालय की एक गुफा के अंदर चूना-पत्थर के ढेर ने जलवायु बदलाव के अनसुलझे रहस्य को जानने में काफी सहायता की है।


शिलांग। हिंदुस्तान के पूर्वोत्तर राज्य मेघालय की एक गुफा के अंदर चूना-पत्थर के ढेर ने जलवायु बदलाव के अनसुलझे रहस्य को जानने में काफी सहायता की है। वैज्ञानिकों के मुताबिक, भारत में गुफा की छत के टपकाव से फर्श पर एकत्रित हुए चूना-पत्थर के स्तंभ की तलछटी से देश में मानसून के पैटर्न, सूखे एवं बाढ़ के सम्बन्ध में बेहतर अंदाजा लगाया जा सकता है। 

fsdfजानकारी के मुताबिक, अमेरिका में वंडेरबिल्ट यूनिवर्सिटी के अनुसंधानकर्ताओं ने बीते 50 वर्ष में मेघालय में माव्मलु गुफा के अंदर टपकने वाले चूना-पत्थर के ढेर में हुई वृद्धि का अध्ययन किया है। एक रिपोर्ट’ में प्रकाशित अध्ययन में पूर्वोत्तर भारत में सर्दी की बरसात तथा प्रशांत महासागर में जलवायु की स्थिति में असमान्य संबंध पाया गया। 

यह भी पढ़े:ये हैं विश्व के सबसे महंगे फल, कीमत जानकर उड़ जाएंगे होश

fsdf

माव्मलु गुफा और इर्द-गिर्द के क्षेत्र में चूना-पत्थर का ढेर घटनाओं की पुनरावृत्ति, बीते कुछ हजार सालों में हिंदुस्तान में सूखे का संकेत देता है। हिंदुस्तान समेत मानसूनी इलाकों में चूना-पत्थर का यह स्तंभ वैश्विक पर्यावरण तंत्र को समझने में सहायक हो सकता है एवं यह पर्यावरण में होने वाले बदलाव को भी रेखांकित करता है। 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन 

वंडेरबिल्ट यूनिवर्सिटी में पीएचडी छात्र एली रॉने के मुताबिक, गुफा के भीतर हवा व जल के प्रवाह से शुष्क मौसम में टपकने वाले चूने के ढेर को बढ़ने में सहायता प्राप्त होती है इससे भीतर की परिस्थिति पर गहरा प्रभाव पड़ता है।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From interesting-news

Trending Now
Recommended