संजीवनी टुडे

यूं ही जींस में नहीं बनी होती है मिनी पॉकेट, जानें इसका राज...

संजीवनी टुडे 23-09-2019 12:47:03

आजकल जींस धारण करना एक आम बात हो गई है। जींस में वैसे तो 2 पॉकेट आगे और दो पीछे होते हैं।


नई दिल्ली। आजकल जींस धारण करना एक आम बात हो गई है। जींस में वैसे तो 2 पॉकेट आगे और दो पीछे होते हैं। किन्तु क्या कभी आपने गौर किया कि जींस की आगे की दो पॉकेट के भीत भी एक छोटी सी पॉकेट रहती हैं। 

hhhdh

जानिए, इस छोटी पॉकेट का राज...
जींस में इस मिनी पॉकेट को तैयार करने का कार्य सबसे पहले लेवी स्‍ट्रॉस नामक कंपनी ने प्रारम्भ किया था। जिसे आज हम सभी लिवाइस ब्रांड के नाम से जानते हैं। उन्होंने इसकी शुरुआत  वर्ष 1879 में किया था। 

यह खबर भी पढ़े:यहां गाय ने दिया भैंस के बच्चे को जन्म, देखने वालों की लगी भीड़

उस वक्त इस मिनी पॉकेट को वॉच पॉकेट के नाम से जाना जाता था। जिसे खासतौर से काउ बॉयज हेतु बनाया गया था। इस पॉकेट को घड़ी रखने हेतु बनाया गया था। कहा जाता है कि 18वीं शताब्दी में काउ बॉयज चेन वाली घडियां अपनी जींस की इसी छोटी पॉकेट में रखते थे। 

hhhdh

तभी से लेवी स्‍ट्रॉस ने जींस में छोटी जेब तैयार करना शुरु कर किया। कंपनी की माने तो, जींस में ये पॉकेट ऐसी होती है जिसमें स्क्रैच पड़ने की संभावना काफी कम होती है। ऐसे में इसमें वस्तुएं भी  सुरक्षित रहती हैं। 

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From interesting-news

Trending Now
Recommended