संजीवनी टुडे

यहां पलाश के फूलों से बने रंग से होली खेलेंगी मां दंतेश्वरी

संजीवनी टुडे 18-03-2019 15:56:08


दंतेवाड़ा। मां दंतेश्वरी पलाश के रंगों से तैयार रंग से होली खेलेगी। इसके लिए बोरियों में टेसू के फूल एकत्र कर शक्तिपीठ लाया जा रहा है। इन फूलों को उबालकर रंग तैयार किया जाएगा।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

ghghhg

चिकित्सकों के जरिए लगातार रासायनिक रंगों का उपयोग न करने की सलाह लोगों को दी जा रही है, बावजूद इसके बाजार से रासायनिक प्रक्रिया से तैयार रंग और गुलाल खरीदकर लोग होली खेल अपनी त्वचा खराब करते हैं, लेकिन बस्तर का आदिम समाज आज भी परंपरागत रंगों का उपयोग कर माईजी के साथ होली खेलता है। 

बुधवार रात होलिका दहन किया जाएगा, वहीं गुरूवार को रंग-भंग के साथ होलिकोत्सव मनाया जाएगा। टेसू के फूलों को उबालकर रंग बनाने की प्रक्रिया वर्षों पुरानी है। इस रंग को पवित्र माना जाता है।

ghghhg

दंतेवाड़ा में आयोजित फागुन मड़ई के बाद होली के दिन इस रंग का उपयोग बड़े पैमाने पर किया जाता है। बुधवार की सुबह सेवादारों के जरिए तैयार रंग और सूखे टेसू फूलों से तैयार गुलाल मां दंतेश्वरी को अर्पित किया जाएगा। यही रंग और गुलाल विभिन्न गांवों से आए देवी-देवताओं पर छिड़का जाएगा। 

MUST WATCH & SUBSCRIBE

प्रधान पुजारी हरिहर नाथ के मुताबिक टेसू फूलों से रंग-गुलाल बनाने की प्रथा 8 सौ वर्षों से यहां जीवित है और इतने ही वर्षों से इनका अर्पण होलिका उत्सव में माई जी को किया जाता है।

More From interesting-news

Trending Now
Recommended