संजीवनी टुडे

यहां आज भी मौजूद है समुद्र मंथन से निकला अमृत कलश, जानिए सच्चाई...

संजीवनी टुडे 14-09-2019 11:47:49

हिंदू पुराणों में समुद्र मंथन को लेकर अनेक किस्से बताए गए हैं। उन्हीं में से एक है समुद्र से अमृत कलश का निकलना।


नई दिल्ली। हिंदू पुराणों में समुद्र मंथन को लेकर अनेक किस्से बताए गए हैं। उन्हीं में से एक है समुद्र से अमृत कलश का निकलना। वैेसे तो अनेक लोग इसे काल्पनिक मानते हैं, परन्तु कुछ विद्वानों की माने तो, मुस्लिम देश इंडोनेशिया में आज भी वो अमृत कलश उपस्थित है। 

hgfhfhfh

यह खबर भी पढ़े:अनोखी शादी: पहले दूल्हे ने भगवान राम की तरह धनुष तोड़ा, फिर...

कहा जाता है इंडोनेशिया के मध्य एवं पूर्वी जावा प्रांतों की सीमा पर माउंट लावू नामक जगह है। जहां कंडी सुकुह नामक एक मंदिर मौजूद है। माउंट लावू पर्वत पर उपस्थित ये मंदिर करीबन 2990 फीट ऊंचा है।

विद्वानों की माने तो, मंदिर के बी भीतर एक कलश मौजूद है। जिसे समुद्र मंथन से निकला हुआ अमृत कलश माना जाता है। वर्ष 2016 में इंडोनेशिया के पुरातत्व विभाग की तरफ से मंदिर की मरम्मत का कार्य करते वक्त उन्हें यहां की दीवार की नींव से एक तांबे का कलश प्राप्त हुआ था। 

जिसके ऊपर एक पारदर्शी शिवलिंग स्थापित था एवं कलश के अंदर कोई द्रव्य भरा हुआ था। जानकार बताते है कि ये कलश 1000 ईसा पूर्व का है, जबकि मंदिर 1437 ईसा पूर्व के इर्द-गिर्द बना था। यह कलश तांबे का है। इसकी विशेषता ये है कि कलश को ऐसे जोड़ा गया था कि उसे कोई खोल न पाए। 

hgfhfhfh

साथ ही चौंकाने वाली बात तो ये है कि जिस दीवार की नींव से कलश प्राप्त हुआ उस पर समुद्र-मंथन की नक्काशी हुई थी एवं महाभारत के आदिपर्व का वर्णन किया गया था। खा जाता है कि कलश में भरा द्रव्य हजारों वर्षों से उपस्थित है, परन्तु इतने वर्ष व्यतीत हो जाने के बावजूद भी द्रव्य सूखा नहीं है।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From interesting-news

Trending Now