संजीवनी टुडे

सुहाग उजड़ने के भय से नहीं करती महिलाएं करवा चौथ का व्रत, ना दीर्घायु की कामना

संजीवनी टुडे 20-10-2016 01:15:37

करनाल: पतियों की दीर्घायु के लिए रखे जाने वाले व्रत करवा चौथ को करनाल के तीन गांव की चौहान गोत्र की महिलाएं सदियों से नहीं मनाती आ रही हैं। उनका मानना है कि जो सुहागिन इस व्रत को रखेगी उसका सुहाग उजड़ जाएगा। करीब 600 साल पहले पति के साथ सती हुई सुहागिन के श्राप का खौफ गोंदर, कतलाहेड़ी व औंगद गांव में आज भी है। हालांकि तीनों गांवों में अन्य बिरादरी की सुहागिनें इस पर्व को मनाती हैं। गांव की बेटियां भी अपने ससुराल में जाकर पति की लंबी आयु की कामना के लिए करवाचौथ का व्रत रखती हैं। बता दें कि गोंदर गांव के ही बुजुर्ग ने औंगद बसाया, इसके बाद सन 1823 में कतलाहेड़ी गांव अस्तित्व में आया। परंपरा तीनों गांवों में वही है। तीनों गांवों में पाया गया कि करीब 700 साल पहले करवाचौथ के ही दिन गोंदर गांव में हुई एक घटना ने इस त्योहार के मायने ही बदल दिए हैं।

JAIPUR : मात्र 155/- प्रति वर्गफुट प्लाट बुक करे, कॉल -09314166166

गांव के बुजुर्गों के अनुसार... 
करवाचौथ के दिन करीब सात सौ साल पहले राहड़ा गांव की एक लड़की अमृत कंवर की शादी गोंदर गांव में हुई थी। करवाचौथ के व्रत से पहले वह अपने मायके राहड़ा गांव गई हुई थी। व्रत से एक दिन पहले की रात उसे सपना आया कि उसके पति की हत्या कर दी गई है और उसका शव बाजरे की फसल के बीच में छुपा रखा है। उसने यह बात अपने मायके वालों को बताई। मायके वाले उसे सुबह होते ही करवाचौथ के दिन गांव गोंदर लेकर पहुंचे। सपने में दिखे स्थान पर पति की तलाश करने पर उसका शव मिल गया। उस दिन उसने करवाचौथ का व्रत रखा हुआ था, इसलिए उसने घर में अपने से बड़ी महिलाओं को करवा देना चाहता तो उन्होंने लेने से मना कर दिया। इसके बाद वह करवा लेकर ही पति के साथ सती हो गई और कहा कि यदि भविष्य में इस गांव की किसी बहू ने करवाचौथ कर व्रत रखा तो उसका सुहाग उजड़ जायेगा। तब से गांव में कोई भी महिला ने व्रत नहीं रखा है।

यह भी पढ़े: स्त्री में सम्भोग की इच्छा बढ़ाने के 4 सबसे आसान घरेलू उपाय...

यह भी पढ़े: दिलचस्प..! लड़कियां न्यूड होकर करती हैं तेज गाड़ियों की स्पीड को कंट्रोल…

यह भी पढ़े : खुशियां बाँट रही फीमेल डॉक्टर.. न्यूड होकर करती है इलाज, मरीजों की लगी रहती हैं लंबी कतार !

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

sanjeevni app

More From interesting-news

Trending Now
Recommended