संजीवनी टुडे

80 लिट्टी, 10 प्लेट चावल, 40 रोटी से भी नहीं भरता इस सख्स का पेट, सामने आई असली वजह

संजीवनी टुडे 31-05-2020 12:38:13

नाश्ते में तीन दर्जन से अधिक रोटियां व भोजन में 80 लिट्टी खाने के बाद भी अनूप का पेट नहीं भरा।


डेस्क। बिहार के बक्सर जिले के मझवारी गांव स्थित क्वारंटाइन सेंटर पर रहने वाले अनूप ओझा खाने को लेकर काफी चर्चा में बने हुए हैं। अनूप अकेले दस आदमी के बराबर खाना खाते हैं। हालांकि अनूप की सेहत को देखकर कोई अंदाजा नहीं लगा सकता कि वे इतना खाते होंगे। जबकि उतनी ही डाइट कोई अन्य व्यक्ति करे तो वह उनके वजन में इजाफा कर देता है।

Anoop Ojha

नाश्ते में तीन दर्जन से अधिक रोटियां व भोजन में 80 लिट्टी खाने के बाद भी अनूप का पेट नहीं भरा। अधिकारियों को इसपर विश्वास करना मुश्किल था। तब सेंटर पर जाकर अधिकारियों ने इसका जायजा लिया। अधिकारियों के सामने ही अनूप ने अपने भोजन से सभी को चकित कर दिया। तब इसकी चर्चा पूरे जिले में जोर-शोर से फैलने लगी। अब इसकी असली सामने आई है। 

आनुवांशिक कारण है बड़ी वजह-
इस बात को लेकर हुईं तमाम रिसर्च में सामने आया कि खूब सारी कैलोरी लेने के बाद भी मोटे न होने के पीछे की अहम वजह होती है हमारे जेनेटिक कोड्स में। कैंब्रिज यूनिवर्सिटी में हुई रिसर्च के अनुसार, जिन लोगों में ज्यादा खाना खाने के बाद भी फैट का असर नहीं दिखता, उसके पीछे आनुवांशिक जीन्स जिम्मेदार होते हैं। 

Anoop Ojha

हालांकि सामान्य तौर पर वजन बढऩे के लिए जिम्मेदार जीन्स की कमी के चलते भी मोटापा न के बराबर होने या वजन धीमी गति से बढऩे की प्रवृत्ति पाई जाती है। 

खरहाटाड़ के रहने वाले हैं अनूप
बक्सर जिले के खरहाटांड़ पंचायत निवासी 23 वर्षीय अनूप ओझा राजस्थान से बक्सर पहुंचे हैं। अनूप ओझा को जिले के मझवारी गांव में बने क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया है। क्वारंटाइन सेंटर में 14 दिन पूरे होने पर उन्हें घर भेजने की तैयारी हो रही है। अनूप ओझा को घर जाने की  जितनी खुशी हो रही है, उससे ज्यादा क्वारंटाइन सेंटर के रसोइये खुश हैं। क्वारंटाइन सेंटर में खाना बनानेवाले रसोइये भी अनूप की भूख से हैरान-परेशान रहे है। उनके भोजन के कारण से क्वारंटाइन सेंटर में रह रहे लोगों को भी काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा।

यह खबर भी पढ़े: Lockdown/भूख से परेशान शख्स ने खाने के लिए तोडा रेस्तरां का दरवाजा, ढाबे के मालिक ने कही दिल छू लेने वाली बात

यह खबर भी पढ़े: चारागाह व वन भूमि पर धड़ल्ले से किया जा रहा है बजरी का अवैध स्टॉक, सुप्रीम कोर्ट के आदेशों की खुलेआम उड़ रही धज्जियां

SANJEEVNI GROUP

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From interesting-news

Trending Now
Recommended