संजीवनी टुडे

गुरुग्राम: आधुनिक तकनीक से लैस मोबाइल बस में शिक्षा ले रहे सरकारी स्कूलों के बच्चे

संजीवनी टुडे 26-10-2020 18:54:49

गुरुग्राम: आधुनिक तकनीक से लैस मोबाइल बस में शिक्षा ले रहे सरकारी स्कूलों के बच्चे


गुरुग्राम। मिलेनियम सिटी गुरुग्राम के सरकारी स्कूलों के विद्यार्थियों को शिक्षा आधुनिक तकनीक से दी जा रही है। युनीक डिजीटल बस में अत्याधुनिक उपकरण लगे हुए हैं, जिसमें 26 कंप्यूटर के अलावा वाई-फाई की सुविधा, लैपटॉप चार्जिंग, बायोमीट्रिक स्कैनिंग, जीपीएस सहित कैमरे लगे हुए हैं। इस बस से कक्षा 7वीं, 8वीं, 9वीं तथा 10वीं के विद्यार्थियों को गणित, विज्ञान, अंग्रेजी आदि के डिजिटल माध्यम से अध्यापन करवाया जा रहा है। जिला उपायुक्त अमित खत्री ने सोमवार को बताया कि वर्तमान में इस बस के माध्यम से 6 सरकारी विद्यालयों में अध्यापन करवाया जा रहा है। 

जिला के सरकारी स्कूलों में पढऩे वाले विद्यार्थियों को सार्द, एचपी तथा मारेली नामक संस्थाएं संयुक्त रूप से युनीक डिजिटल बस तथा हॉट स्पॉट व्हीकल (मोबाइल वैन) के माध्यम से आधुनिक तकनीक से शिक्षा प्रदान करने मे योगदान दे रही हैं। इन दोनों किस्म की बसों में स्मार्ट क्लास रूम के उपकरण लगे हुए हैं, जिन पर ई-कंटेंट प्रदर्शित करके बच्चों को उनके पाठ्यक्रम से संबंधित पाठ्य सामग्री पढ़ाई जा रही है। उन्हें आधुनिक तकनीक से राष्ट्रीय शिक्षण अनुसंधान एंव प्रशिक्षण परिषद् (एनसीईआरटी) पुस्तकों की शिक्षण सामग्री डिजीटल तरीके से दिखाई जाती है, जिससे बच्चों को ऑडियो-विजुअल ई-कंटेंट देखने को मिलता है। इस तकनीक से बच्चों को उनकी पाठ्य सामग्री आसानी से समझ आती है और ज्यादा दिन तक याद रहती है। इस बस में दो रिसोर्स पर्सन भी होते हैं, जो बच्चों को जैसे-जैसे ई-कंटेंट डिस्प्ले होता है उसके बारे में साथ-साथ समझाते रहते हैं। 

जिला उपायुक्त अमित खत्री के मुताबिक वर्तमान में इस बस के माध्यम से 6 सरकारी विद्यालयों में अध्यापन करवाया जा रहा है। जल्द ही जिला के 17 स्कूलों को भी डिजिटल ई-लर्निंग से जोडऩे की योजना है। जिला शिक्षा अधिकारी इंदु बोकन ने बताया कि डिजिटल बस के माध्यम से मानेसर व पटौदी क्षेत्र के सरकारी स्कूलों के बच्चों को चरणबद्ध तरीके से स्मार्ट लर्निंग से जोड़ा जा रहा है। सार्द संस्था के सीईओ सुधीर भट्टनागर ने बताया कि युनीक डिजिटल बस के अलावा जिला में संस्था द्वारा एक मोबाइल वैन भी चलाई जा रही है जिसमें 100 से अधिक लैपटॉप लगे हुए हैं। मुख्यमंत्री की सुशासन सहयोगी कनिका ने बताया कि आज के बदलते परिवेश में जरूरी है कि बच्चों को स्मार्ट लर्निंग से जोड़ा जाए। कोरोना संक्रमण के दौर में स्मार्ट लर्निंग का महत्व और बढ़ गया है।

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From haryana

Trending Now
Recommended