संजीवनी टुडे

फरीदाबाद में किसानों ने किया कृषि बिल का विरोध, जमकर की नारेबाजी

संजीवनी टुडे 25-09-2020 18:17:34

फरीदाबाद में किसानों ने किया कृषि बिल का विरोध, जमकर की नारेबाजी


फरीदाबाद। कृषि बिल के विरोध में किसानों ने शुक्रवार को भारत बंद बुलाया है। इस बंद का असर फरीदाबाद में देखने को मिला। यहां इस बिल के विरोध में किसानों ने सेक्टर-12 स्थित लघु सचिवालय के समक्ष सरकार के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया। किसानों ने सेक्टर-12 लघु सचिवालय पर पहुंचकर प्रशासन और सरकार के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की और एसडीएम को राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन भी सौंपा। उधर बल्लभगढ़ में प्रगतिशील किसान मंच के अध्यक्ष सत्यवीर डागर के नेतृत्व में भी किसानों ने 3 कृषि विधेयकों को लेकर जोरदार प्रदर्शन किया और सरकार पर गंभीर आरोप लगाए। सत्यवीर डागर ने कहा कि यह विधेयक भाजपा सरकार की तानाशाही का सबूत है, जिसे सरकार बिना रजामंदी के थोप रही है। उन्होंने कहा कि किसान इस तानाशाही के विरोध करते है और करते रहेंगे और जरूरत पड़ी तो बड़ा जनांदोलन छेडऩे से भी नहीं चूकेंगे। 

प्रदर्शनकारी किसानों का कहना है कि ये सरकार अंग्रेजों से भी ज्यादा बुरी सरकार है, जिन किसानों ने चुनावों के समय में नेताओं को गले लगाया था अब वहीं किसान आगामी चुनाव में उनका बुरा हाल कर देंगे। किसानों की मांग है कि अध्यादेश को वापस लिया जाए। किसानों का कहना है कि पिपली में जो हमारे बुजुर्गों पर लाठी भांजी गई थी वो बड़ी शर्मनाक है, जिस तरीके से अंग्रेज भाई को भाई से लड़ाने का काम करते थे, उसी तरह बीजेपी सरकार भी किसानों पर लाठियां भांजने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि किसान इस अध्यादेश का पुरजोर विरोध कर रहे हैं और जब तक सरकार इसको वापस नहीं लेगी तब तक इसका विरोध करते रहेंगे। उन्होंने कहा कि यह कृषि अध्यादेश किसानों के लिए डेथ वारंट से कम नहीं है क्योंकि इन आदेशों के बाद किसान पूंजीपतियों का गुलाम बन कर रह जाएगा। 

यह खबर भी पढ़े: प्रधानमंत्री मोदी ने जापान के नए पीएम योशिहिदे से की बात, रिश्तों को मजबूत करने पर दिया जोर

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From haryana

Trending Now
Recommended