संजीवनी टुडे

धर्मशाला विवाद सुलझा, निजी बिरादरी का नाम को हटाकर बैकवर्ड धर्मशाला लिखा, तनाव खत्म

संजीवनी टुडे 16-09-2020 19:50:30

धर्मशाला विवाद सुलझा, निजी बिरादरी का नाम को हटाकर बैकवर्ड धर्मशाला लिखा, तनाव खत्म


फतेहाबाद। जिले के गांव बोस्ती में विवादित चौपाल पर एक बिरादरी का नाम हटाकर पुन: बैकवर्ड धर्मशाला रख दिया गया है, जिसके बाद गांव में तनावपूर्ण स्थिति का माहौल खत्म हो गया। एसडीएम व बीडीपीओ के आदेश पर ग्राम पंचायत सरपंच जगदीश चंद्र व जिला पार्षद अजय महता ने गांव का भाईचारा बनाए रखने हेतु पिछड़ा वर्ग समाज के लोगों के साथ बैठक की। बैठक में सामाजिक विरोधी कार्य करने वाले लोगों को फटकार भी लगाई। खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी रवि कुमार बागड़ी ने बैकवर्ड धर्मशाला विवाद निपटने के बाद बोस्ती के लोगों को आपसी भाईचारा एवं शांति बनाए रखने की अपील की है।

गौरतलब है कि गांव बोस्ती में  विवादित धर्मशाला को लेकर सोमवार को खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी व एसडीएम टोहाना को शिकायत दी थी। गांव बोस्ती निवासी एवं पूर्व पंचायत सदस्य ओम प्रकाश, मेहर सिंह, बजिंदर सिंह, अमनदीप, सतबीर सिंह, जय सिंह व संदीप कुमार ने आरोप लगाया था कि बैकवर्ड धर्मशाला के मुख्य द्वार पर कुछ शरारती तत्वों ने एक निजी बिरादरी का नाम लिख दिया और बैकवर्ड नाम को मिटा दिया गया था। इसके बाद गांव में पिछड़ा वर्ग समाज की विभिन्न बिरादरी के लोगों ने इसका कड़ा विरोध किया था। गांव के सरपंच से लेकर एसडीएम तक को शिकायत दी गई थी, जबकि पहले प्रशासनिक स्तर पर बैकवर्ड चौपाल लिखा हुआ था, जिस को मिटा दिया गया। 

पिछड़ा वर्ग समाज के लोगों ने प्रशासनिक अधिकारियों को पत्र भेजकर कुछ उपद्रवी गांव में सामाजिक सद्भाव बिगाडऩे तथा जातिगत दंगा कराने की कोशिशों के बारे कहा था। खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी रवि कुमार बागड़ी ने बताया कि गांव बोस्ती में बैकवर्ड धर्मशाला पर एक बिरादरी का नाम लिख दिया गया था जो सरासर गलत एवं गैरकानूनी था, इसलिए अब विवादित चौपाल पर पंचायती लोगों की मौजूदगी में पुन: बैकवर्ड धर्मशाला लिख दिया है। अब गांव में कोई विवाद नहीं रहा।

यह खबर भी पढ़े: कानपुर देहात : प्रेमी के साथ देखकर पिता ने बेटी को मौत के घाट उतारा

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From haryana

Trending Now
Recommended