संजीवनी टुडे

रेप केस में जमानत पर करण ओबेरॉय ने दिया मिडिया को ये बयान

संजीवनी टुडे 15-06-2019 20:42:01

बॉलीवुड स्टार करण ओबेरॉय पर रेप का आरोप लगाने वाली महिला ने सोमवार को ओशिवरा पुलिस को अपने फोन सरेंडर कर दिया है


मुंबई। बॉलीवुड स्टार करण ओबेरॉय पर रेप का आरोप लगाने वाली महिला ने सोमवार को ओशिवरा पुलिस को अपने फोन सरेंडर कर दिया है। बता दें कि ओबेरॉय को हाई कोर्ट से तीन दिन पहले ही बेल मिल चुकी है और महिला के फोन को जब्त करने में हुई इस देरी के लिए ओबेरॉय के वकील ने पुलिस से सवाल किया है।

सूत्रों के मुताबिक ओबेरॉय ने मिडिया से बातचीत के दौरान लगाए गए सभी आरोपों को बेबुनियाद बताया है। उन्होंने कहा कि मेरे ऊपर लगाए गए सभी आरोप फर्जी हैं। ओबेरॉय के अनुसार वे पीड़िता के साथ एक शार्ट रिलेशनशिप में थे, लेकिन वो रिलेशनशिप फ्रेंडली रिलेशनशिप थी जिसमें वो सब कुछ हुआ जो हर रिलेशनशिप में होता है। उन्होंने कहा कि ना ही मैंने कोई नशे के डोज दिए और ना ही कोई प्राइवेट वीडियो बनाया। मुझे फंसाने के लिए मुझ पर ये आरोप लगाया है। 

ओबेरॉय ने आगे बताते हुए कहा कि मेरी बातों में कितनी सच्चाई है इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि मैंने पुलिस के पास अपना फोन उसी वक्त जमा कर दिया था जब मुझपे आरोप लगे थे। वहीं इस केस में आरोप लगाने वाली महिला का फोन तब जप्त किया गया है जब हाइकोर्ट ने मेरिट पर मेरे पक्ष को सुना और उसके बाद पुलिस को पूछा कि केवल चैट के आधार पर आप कैसे किसी को गिरफ्तार कर सकते हो।

पुलिस को आर्डर देने के बाद अब जाकर उसके फोन को जप्त किया गया है। इसी दौरान ही ओबेरॉय से सवाल किया गया कि पीड़ित ने पुलिस स्टेशन में एप्लिकेशन देते हुए कहा कि उसके वीडियोज बनाने के बाद आप उसे ब्लैकमेल कर रहे थे। आपके पहले एक सेलिब्रिटी एक्टर के साथ रिश्ते थे और उससे भी आपने पैसे वसूले थे और पैसे नहीं देने पर उसके वीडियो लीक किए थे?

इस पर ओबेरॉय ने जवाब दिया कि, मैंने पीड़िता का कभी कोई वीडियो नहीं बनाया और ना ही कोई पैसे वसूले। आगे बताते हुए ओबेरॉय ने कहा कि यह मेरे खिलाफ एक सोची समझी साजिश है जिसके तहत मुझे फंसाया जा रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि आप जिस चैट की बात कर रहे हैं

जिसमें आप कह रहे है कि मैंने उसका प्राइवेट वीडियो बनाया, उसे डराया धमकाया। वो मैसेज केवल एक तरफा ही थे। उसने आपको वो दिखाया जो वो आपको दिखाना चाहती है। मैंने पैसे लिए मैं मानता हूं, लेकिन मैंने वो पैसे उसे पहले दिए थे ये उसने नहीं बताया। मेरे घर के बेड से लेकर कई चीजे उसने खरीदी थी। 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

 

मेरी गलती थी कि मैंने उसे मना नही किया। बातचीत के दौरान भरे गले से ओबेरॉय  ने कहा कि इन 35 दिनों में मैंने जो झेला मैं बयां नहीं कर सकता। तलोजा जेल में जब था तो घुटन में था. मैंने 20 साल के करियर में कभी किसी से बदतमीजी तक नहीं की। ट्रैफिक हवलदार से तक झगड़ा नहीं किया और आज मैं फर्जी तरीके से बलात्कारी बना दिया गया हूं। फिलहाल खबर है कि महिला शहर से बाहर हैं और सोमवार को उनकी मां ओशिवरा पुलिस स्टेशन पहुंची थीं, और दोनों फोन पुलिस कों सौंपें। अधिकारियों के अनुसार डिलीट किए गए डाटा वापस पाने के लिए फोन फॉरेंसिक सांइंस लैब भेजे जाएंगे। 

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

 

More From entertainment

Trending Now
Recommended