संजीवनी टुडे

गेम ओवर में कर देती है तापसी रौंगटे खड़े

संजीवनी टुडे 14-06-2019 20:52:19

गेम ओवर में अमुथा नाम की एक लड़की अपने घर में अकेली रहती हैं। एक शख्स उसके घर में घुसता है प्लास्टिक कवर को इस महिला के चेहरे पर बांध देता है और ये महिला एक त्रासदी भरी मौत मर जाती है


मुंबई। फिल्म गेम ओवर में अमुथा नाम की एक लड़की अपने घर में अकेली रहती हैं। कोई उसे देखता रहता है। इसके बाद एक शख्स उसके घर में घुसता है, प्लास्टिक कवर को इस महिला के चेहरे पर बांध देता है और ये महिला एक त्रासदी भरी मौत मर जाती है। सीन तापसी पन्नू की साइकोलॉजिकल थ्रिलर फिल्म गेम ओवर का है। 

बता दें कि फिल्म गेम ओवर के प्रेस शो से पहले फिल्म बनाने वाली कंपनी ने इतने ट्वीट फिल्म की तारीफ में किए कि फिल्म देखते समय जब भी बोरियत सी महसूस हुई तो ये ट्वीट्स ही याद आते रहे। 

बताना चाहेंगे कि घर में घुसकर मारना सिनेमा का एक बेहतरीन जॉनर भी है। राम गोपाल वर्मा ने फिल्म कौन में इसका बेहतरीन नमूना भी पेश किया। गेम ओवर में भी कोशिश यही है।

दिक्कत ये है कि महिलाओं को डरी हुई, अंधेरे से भागती, किसी अनजान भय से घिरी हुई दिखाने के अलावा हॉरर का दूसरा कोई तरीका उनके पास नहीं है। और, तापसी पन्नू की शख्सीयत इसके ठीक उलट है।

 
गेम ओवर न तो पूरी तरह हॉरर फिल्म है और न ही साइकोल़ॉजिकल थ्रिलर। ये दोनों के बीच की ऐसी एक्सपेरीमेंटल है जिसमें हर चौथे सीन में कहानी का पांचवा सूत्र खुल जाता है। मकड़ी के जाले से फैली फिल्म में मकड़ी कौन है और जाले में फंसी मक्खी कौन, इसी गुत्थी को पूरी फिल्म सुलझाती रहती है।


 
बताना चाहेंगे फिल्म की कहानी गुरुग्राम की है। घर में अकेली रह रही एक लड़की का सिर काटकर कोई फुटबॉल के गोलपोस्ट में गेंद की तरह किक कर गोल करता है।

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

 

लाश को कुर्सी पर रखकर जला देता है। ये है फिल्म की प्रस्तावना। और, फिर दिखती हैं घुंघराले बालों वाली तापसी। 

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

 

More From entertainment

Trending Now
Recommended