संजीवनी टुडे

करियर खत्म होने के बाद मुफलिसी की जिंदगी जीने को मजबूर हुई ये टॉप की हीरोइनें

संजीवनी टुडे 09-04-2020 13:56:58

बॉलीवुड पहले के दौर के मुकाबले आज काफी सक्सेस हो गया है। उस दौर की टॉप एक्ट्रेसेस के बारें में आज हम आपको कुछ अनुसने किस्से बताएंगे, जिसे जानकार आप भी दंग रह जायेगे।


नई दिल्ली । बॉलीवुड पहले के दौर के मुकाबले आज काफी सक्सेस हो गया है। उस दौर की टॉप एक्ट्रेसेस के बारें में आज हम आपको कुछ अनुसने किस्से बताएंगे, जिसे जानकार आप भी दंग रह जायेगे। गुजरे ज़माने की खूबसूरत एक्ट्रेस रीना राय आज की तारीख में इतनी मोटी हो गई हैं कि पहचानी नहीं जाएंगी। लेकिन ऐसा क्या हुआ कि एक जमाने में हीरो से ज्यादा कमाने वाली रीना राय को ऐसे बुरे दिन देखने पड़ गए?  उस दौर की अधिकांश नायिकाओं की कमाई उनके माता-पिता संभालते थे।  

मधुबाला उर्फ मुमताज जहान बेगम देहलवी के पिता अताउल्लाह खान ने उन्हें कभी अपनी मर्जी से एक पैसा खर्च करने नहीं दिया। परिवार बड़ा था। मधुबाला के स्टार बनते ही घर में खूब पैसा आने लगा। अताउल्लाह खान ने रईसों की तरह खूब खर्चे किए, रिश्तेदारों पर लुटाया। जब मधुबाला बीमार हुईं, तो उनके इलाज के लिए पैसे नहीं बचे थे। 

ऐसी ही दास्तां मीना कुमारी की भी थी, जिन्होंने शराब पी-पी कर अपनी जान दे दी। हेमा मालिनी की मां जया चक्रवर्ती ने भी बेटी के ही दम पर अपने बेटे और दूसरे रिश्तेदारों की खूब मदद की। लेकिन समय रहते हेमा संभल गईं। कहते हैं इसमें उनके शौहर धर्मेंद्र का भी काफी हाथ है, जिन्होंने हेमा के पैसों को सही तरह से निवेश करने में मदद की। 

जीनत अमान ने भी अपने हाल के एक इंटरव्यू में कहा था, ‘मेरी पीढ़ी की हीरोइनों को पैसा संभालना नहीं आया। हमने खूब कमाया और गंवाया भी।  हमारे परिवार वालों, शौहर सबने हमारे पैसे का खूब इस्तेमाल किया। आज जब हमें जरूरत है, तो दूसरों का मुंह ताकना पड़ता है'। 'गीत गाता चल' फिल्म से सुपरहिट हुईं सारिका ने तो अपनी मां कमल ठाकुर के ऊपर केस कर दिया था।  सारिका बाल कलाकार थीं। स्कूल भी नहीं गईं। जब वो महज ढाई साल की थीं, उनकी मां ने उन्हें बतौर बाल कलाकार फिल्मों में काम करने भेज दिया।  सारिका की कमाई पर घर चलता था। व​ह हीरोइन बनीं, तो सारे पैसे मां रख लेती थीं। बहुत बाद में सारिका को अहसास हुआ कि उनके अपने नाम से कुछ भी नहीं है, बैंक में फूटी कौड़ी नहीं है।

मां ने सबकुछ अपने नाम कर रखा था। ये वो दिन थे, जब सारिका को काम नहीं मिल रहा था। वह अपने दो-चार कपड़े लेकर अपनी एक दोस्त के घर रहने चली गईं। इतना पैसा कमाने के बावजूद लंबे समय तक उन्हें वडा पाव खाकर गुजारा करना पड़ा। यही हश्र बाद के सालों में अमीषा पटेल का हुआ। ऐसे हीरोइनों की लंबी फेहरिस्त है जो करियर खत्म होने के बाद मुफलिसी की जिंदगी जीने को मजबूर हो जाती हैं। 

यह खबर भी पढ़े:लॉकडाउन में भाई इब्राहिम के साथ मस्ती करती दिखी सारा, देखें VIDEO

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From entertainment

Trending Now
Recommended