संजीवनी टुडे

रिकॉर्डों के सरताज हिटमैन, रोहित शर्मा: योगेश कुमार गोयल

संजीवनी टुडे 11-02-2019 16:28:45


न्यूजीलैंड के खिलाफ तीसरे टी-20 मैच में गत 10 फरवरी को टीम इंडिया 210 रन बनाकर महज 4 रनों से सीरिज गंवा बैठी। कप्तान रोहित शर्मा भी तीन चौकों के साथ सिर्फ 38 रनों की पारी खेलकर पैवेलियन लौट गए। इसके बावजूद, रोहित शर्मा के नाम कई रिकॉर्ड ऐसे हैं, जिनकी बदौलत क्रिकेट के छोटे प्रारूपों में बड़ी पारियां खेलने के लिए विख्यात इस भारतीय ओपनर को टीम इंडिया का हिटमैन कहा जाता है। 

जयपुर में प्लॉट मात्र 2.40 लाख में Call On: 09314166166

आठ फरवरी को टी-20 के दूसरे मैच में रोहित ने चार छक्के जड़कर 50 रनों की धुआंधार पारी खेलते हुए कुछ रिकॉर्ड अपने नाम किए थे। उनके फैंस को उम्मीद थी कि वो न्यूजीलैंड के खिलाफ तीसरे टी-20 मैच में भी ऐसी ही धुआंधार पारी खेलकर टी-20 अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में सर्वाधिक छक्के जड़ने का एक और रिकॉर्ड अपने नाम करने में सफल होंगे। 

इस रिकॉर्ड के लिए रोहित को सिर्फ दो छक्केे जड़ने थे किन्तु इसमें वो असफल रहे। भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेली गई तीन मैचों की इस श्रृंखला में न्यूजीलैंड ने पहला मैच 80 रनों से जीता था लेकिन दूसरे मैच में भारतीय टीम ने 7 विकेट से शानदार जीत दर्ज की थी। ऐसे में भारत अगर तीसरा मैच जीतकर यह सीरिज अपने नाम करने में सफल हो जाता तो रोहित शर्मा पहले ऐसे भारतीय कप्तान भी बन जाते, जिसकी अगुवाई में भारत न्यूजीलैंड में टी-20 की कोई सीरिज जीतता। रोहित इस रिकॉर्ड से भी चूक गए। 

अब 24 फरवरी से विजाग में विश्वकप से पहले भारत आस्ट्रेलिया के खिलाफ दो टी-20 और पांच एकदिवसीय मैच खेलेगा। इन मैचों में रोहित के प्रदर्शन पर सभी नजरें केन्द्रित रहेंगी। उम्मीद है कि इन मैचों में वह टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सर्वाधिक छक्के जड़ने का रिकॉर्ड बनाने में अवश्य सफल होंगे। फिलहाल यह रिकॉर्ड वेस्टइंडीज के क्रिस गेल के नाम है, जिन्होंने 56 मैचों में 103 छक्के लगाए हैं। 

इसके अलावा न्यूजीलैंड के मार्टिन गुप्टिल 76 मैचों में 103 छक्कों के ही स्थान दूसरे स्थान पर हैं जबकि रोहित अब तक 92 मैचों में 102 छक्के लगा चुके हैं। रोहित के बाद न्यूजीलैंड के ब्रैंडन मैकुलम ने 71 मैचों में 91 और न्यूजीलैंड के कॉलिन मुनरो ने 51 मैचों में 90 छक्के लगाए हैं।

न्यूजीलैंड के साथ टी-20 सीरिज के दूसरे मैच में रोहित ने 50 रन बनाने के साथ ही गप्टिल का टी-20 में सर्वाधिक रन बनाने का रिकॉर्ड तोड़ दिया था। तब गप्टिल के 76 मैचों में 2272 रन थे, जबकि रोहित 2288 रन बनाकर टी-20 में सर्वाधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी बन गए थे। रोहित के अब टी-20 में 2326 रन हो चुके हैं। वह टेस्ट, वनडे और टी-20 तीनों फॉर्मेट में 320 मैचों में 349 छक्के लगा चुके हैं। 

उन्होंने 27 टेस्ट में 32, 201 वनडे में 215 और 92 टी-20 में 102 छक्के लगाए हैं। महेन्द्र सिंह धोनी ने इन फॉर्मेट के कुल 523 मैचों में अब तक 348 छक्के जड़े हैं। धोनी ने 90 टेस्ट में 78 छक्के, 338 वनडे में 222 छक्के और 95 टी-20 में 48 छक्के मारे हैं। इनके अलावा पाकिस्तान के शाहिद आफरीदी के नाम 524 मैचों में 476 छक्के, गेल का 443 मैचों में 476 छक्के, न्यूजीलैंड के ब्रैंडन मैक्कुलम का 432 मैचों में 398 छक्के और श्रीलंका के सनथ जयसूर्या का 586 मैचों में 352 छक्के मारने का रिकॉर्ड है।

रोहित शर्मा के बारे में अक्सर कहा जाता है कि जब उनका बल्ला चलता है तो दुनिया के अच्छे से अच्छे गेंदबाज का पसीना छूटने लगता है। वनडे क्रिकेट में अभी तक तीन दोहरे शतक लगा चुके रोहित को आईपीएल के सफलतम खिलाडि़यों में से एक माना जाता है और कहा जाता है कि उनमें अंतिम गेंद पर छक्के से टीम को मैच जिताने की विलक्षण क्षमता है। 

धोनी और गौतम गंभीर के बाद अपनी टीम को आईपीएल खिताब दिलाने वाले रोहित तीसरे कप्तान हैं। वह टेस्ट क्रिकेट, वनडे और 20-20 के अलावा आईपीएल में भी खेल रहे हैं तथा मुम्बई इंडियंस टीम के कप्तान और भारतीय वनडे टीम के उपकप्तान भी हैं। 

दीवाली से एक दिन पहले रोहित वेस्टइंडीज के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय टी-20 में 4 शतक लगाने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज भी बने थे। उनसे पहले यह रिकॉर्ड संयुक्त रूप से तीन-तीन शतकों के साथ रोहित शर्मा और न्यूजीलैंड के कॉलिन मुनरो के नाम था। 2015 में उन्हें ‘अर्जुन पुरस्कार’ से सम्मानित किया जा चुका है।

रोहित की कप्तानी में भारत ने अब तक 15 टी-20 खेले हैं, जिनमें से टीम इंडिया 12 मैच जीतने में सफल भी रही है। उन्होंने गत वर्ष वनडे क्रिकेट में 73.57 की औसत से 1030 रन तथा टी-20 में 36.87 की औसत से कुल 590 रन बनाए. जिनमें दो शतक भी शामिल थे। वनडे क्रिकेट में उनका सर्वाधिक स्कोर का कीर्तिमान 264 रनों का है, जो उन्होंने 13 नवम्बर 2014 को कोलकाता के ईडन गार्डन्स मैदान पर श्रीलंकाई टीम के खिलाफ बल्लेबाजी करते हुए कायम किया था। 

उन्होंने समूचे क्रिकेट जगत को अपने इस प्रदर्शन से दंग कर दिया था। वह एक दिवसीय क्रिकेट के इतिहास में सर्वाधिक दोहरे शतक लगाने वाले पहले बल्लेबाज हैं। वह क्रिकेट के इतिहास में पहले ऐसे बल्लेबाज भी हैं, जो वनडे क्रिकेट में तीन दोहरे शतक और अंतरराष्ट्रीय 20-20 में चार शतक लगा चुके हैं। 2 अक्तूबर 2015 को रोहित टी-20 में 66 गेंदों में 106 रनों की विशाल पारी खेलकर सर्वाधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी बन गए थे। हालांकि बाद में उनका यह रिकॉर्ड टूट गया।

रोहित एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में एक मैच में सर्वाधिक 33 चौके लगाने वाले पहले खिलाड़ी हैं। इसके अलावा एक वनडे में सर्वाधिक 16 छक्के लगाने का रिकॉर्ड भी उन्हीं के नाम है। वह तेज गेंदबाजी और स्पिन दोनों को शानदार तरीके से खेलते हैं। हालांकि बाएं हाथ के गेंदबाजों के खिलाफ चूक करना रोहित की सबसे बड़ी कमजोरी माना जाता है। 

आस्ट्रेलिया के विस्फोटक बल्लेबाज ग्लेन मैक्सवेल रोहित को दुनिया का बेहतरीन बल्लेबाज बताते हुए कहते हैं कि रोहित को खेलते देखना बेहद शानदार होता है। वह गेंद को बेहद आसानी से खेलते हैं। दूसरे बल्लेबाजों की तुलना में उनके पास शॉट खेलने के लिए बहुत ज्यादा समय रहता है तथा वो गेंदों को आसानी से बाउंड्री के बाहर भेजते हैं।

महाराष्ट्र के नागपुर जिले के बंसोड़ क्षेत्र में 30 अप्रैल 1987 को जन्मे रोहित ने अपने एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट कैरियर की शुरुआत 23 जून 2007 को आयरलैंड क्रिकेट टीम के खिलाफ की थी, जबकि 20-20 में अपना पहला मैच इंग्लैंड क्रिकेट टीम के खिलाफ 19 सितम्बर 2007 को खेला था। उन्होंने 108 वनडे मैचों के बाद टेस्ट मैच खेला था और अपने टेस्ट कैरियर की शुरुआत वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम के खिलाफ 9 नवम्बर 2013 को कोलकाता के ईडन गार्डन्स मैदान पर खेलकर की थी। 

वहां रोहित ने 177 रनों की बड़ी पारी खेलकर हर किसी को अपने खेल से मंत्रमुग्ध किया था। रोहित ने 20 सितम्बर 2007 को आईसीसी 20-20 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ शानदार प्रदर्शन करते हुए 40 गेंदों पर 50 रन बनाए थे और उस मैच में उन्हें ‘मैन ऑफ द मैच’ चुना गया था। दिसम्बर 2009 में रोहित ने रणजी ट्रॉफी के एक मैच में तिहरा शतक लगाकर हर किसी को दांतों तले उंगलियां दबाने को विवश कर दिया था। 

MUST WATCH & SUBSCRIBE

28 मई 2010 को जिम्बाब्वे क्रिकेट टीम के खिलाफ रोहित ने 114 रनों की पारी खेलते हुए अपना पहला वनडे शतक बनाया था। दो ही दिन बाद 30 मई को भी त्रिकोणीय श्रृंखला में श्रीलंका के खिलाफ एक और शतक ठोंककर नाबाद 110 रन बनाए थे।

More From editorial

Loading...
Trending Now