संजीवनी टुडे

विदेशी पर्यटकों के लिए पसंदीदा जगह है भारत

बाल मुकुन्द ओझा

संजीवनी टुडे 16-09-2018 19:55:45

 
भारत सरकार का पर्यटन मंत्रालय अन्य केन्द्रीय मंत्रालयों और राज्य सरकारों के सहयोग से 16 सितंबर से 27 सितंबर 2018 के दौरान पूरे देश में ‘पर्यटन पर्व’ आयोजित कर रहा है। पर्यटन के लाभों पर ध्यान केंद्रित करने, देश की सांस्कृतिक विविधता को प्रदर्शित करने और “सभी के लिए पर्यटन” के सिद्धांत को मजबूत करने के उद्देश्य से इस पर्व का आयोजन किया जा रहा है।
 
 भारत में पर्यटन सबसे बड़ा सेवा उद्योग है। हमारा देश इस समय लगभग दो सौ दस अरब डॉलर का पर्यटन क्षेत्र  का सबसे बड़ा सेवा उद्योग बन चुका है  इसका राष्ट्रीय सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी ) में 6.23 प्रतिशत  और  रोजगार में 8.78 प्रतिशत  योगदान है।  भारत में आने वाले विदेशी पर्यटकों की संख्या साल 2017 में 1.55 करोड़ रही, जो साल 2016 में 1.45 करोड़ थी. इस कारोबार से भारत की आय साल 2017 में बढ़कर 27.36 अरब डॉलर रही, जबकि साल 2016 में यह आंकड़ा 22.42 अरब डॉलर पर था। विदेशी पर्यटकों के बीच भारत का आकर्षण बढ़ा है. 2017 में दक्षिण एशियाई देशों में सबसे अधिक विदेशी विदेशी पर्यटक भारत आए। भारत विदेशी पर्यटकों के लिए पसंदीदा जगह बनता जा रहा है। भारत के टूरिज्म सेक्टर के लिहाज से पिछला साल 2017 काफी अच्छा साबित हुआ है। इस वर्ष 2018 में पर्यटन क्षेत्र में 9.4 प्रतिशत की वार्षिक वृद्धि दर के साथ, इसके 275.5 बिलियन तक बढ़ने की उम्मीद है।
 
  भारत एक ऐसा देश जहां एक से बढ़कर एक प्राकृतिक परिदृश्य देखने को मिलते हैं। यहां आकर आप ऐसी घाटियों और गांवों की सैर कर सकते हैं जिसे अब तक ज्यादा एक्सप्लोर नहीं किया गया है। पर्यटन की दृष्टि से भारत विश्व का एक अजब गजब देश है जहाँ समुद्र से लेकर जंगल और बर्फ से लेकर  रेगिस्तान तक देखने को मिल जायेंगे। हरे-भरे घास के मैदान और पथरीली जमीन भी आपको यहीं मिल जाएगी। पर्यटन की दृष्टि से भारत में घूमने लायक कई ऐसी जगहें हैं जो अपनी खूबसूरती से आपका मन मोह लेंगी। देश की शान ताजमहल ,कश्मीर ,कन्या कुमारी ,गोवा ,केरल, जयपुर ,दिल्ली ,दार्जीलिंग, उत्तराखंड का पहाड़ी क्षेत्र आदि मंत्रमुग्ध करने वाले स्थल इसी देश में है।  इंडिया गेट, हुमायूँ का मकबरा, कुतुब मीनार, बुलंद दरवाजा, लाल किला आगरा, चारमीनार, गेटवे ऑफ इंडिया, लोटस टैंपल, खजुराहो, साँची, हम्पी, अजंता की गुफाएं, एलोरा की गुफाएं उदयगिरि गुफाएँ इलौरा आदि देश के पर्यटन क्षेत्र बरबस आपको अपनी और खिंच लेते है।  विविधता और प्राकृतिक सुन्दरता से भारत पर्यटन के लिए हर किसी की पसंदीदा जगह हैं। देश के पहाड़ी क्षेत्र गर्मियों के रिसॉर्ट्स बने रहते हैं। इनमें  पचमढ़ी, अरकु, गुलमर्ग, श्रीनगर, लद्दाख, दार्जिलिंग, मुन्नार, ऊटी और कोडाइकनाल, शिलांग, शिमला, कुल्लू, मसूरी, देहरादून नैनीताल, गंगटोक आदि प्रमुख है।
 
आज आवश्यकता इस बात कि है कि भारत में पर्यटन को रोजगारोन्मुखी बनाने के लिये समाज के हर तबके को इससे जोड़ा जाये । मगर यह तभी संभव है जब पर्यटन स्थलों को सुरक्षा के लिहाज से सुरक्षित बनाने के साथ आवागमन की सुविधा सुगम हो। हमारे देश में ऐतिहासिक विरासत, मेडिकल पर्यटन, धरोहर पर्यटन, सांस्कृतिक पर्यटन, वन्यजीव पर्यटन, रोमांचकारी गतिविधि पर्यटन, खेल पर्यटन के विकास की अपार और विपुल संभावनाएं हैं। एक आकलन के अनुसार पर्यटन उद्योग में 10 लाख रूपये का निवेश करने से लगभग 90 लोगों को रोजगार मिलता है जबकि कृषि क्षेत्र में लगभग 45 और विनिर्माण क्षेत्र में लगभग 13 लोगों को। 
 
 मोदी सरकार को भारत में पर्यटन विकास को बढ़ावा देने का श्रेय दिया जा सकता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2014 में सत्ता सँभालने के बाद  पर्यटन पर फोकस किया। अपने भ्रमण के दौरान विदेश में भारत की सकारात्मक छवि बनाई। प्रधानमंत्री ने  अपने विदेशी दौरों में  वहां के नागरिकों को भारत की विविधिता पूर्ण संस्कृति का अनुभव करने के लिए आमंत्रित किया। मोदी सरकार की इसी नीति का सकारात्मक असर शीघ्र दिखने लगा है। केपीएमजी और फिक्की की टूरिज्म सेक्टर पर प्रस्तुत रिपोर्ट के अनुसार भारत में 2017 में ट्रैवल और टूरिज्म सेक्टर में 2 करोड़ 59 लाख रोजगार के अवसर मिले हैं। इतना ही नहीं टूरिज्म सेक्टर ने जीडीपी में 141.1 बिलियन का योगदान दिया है। 
रिपोर्ट के अनुसार पूरी दुनिया के डिजिटल ट्रैवल सेल्स के मामले में भारत का हिस्सा 3.7 प्रतिशत हो गया है और एशिया-पैसिफिक रीजन में भारत तीसरा बड़ा बाजार बनकर उभरा है। पर्यटन क्षेत्र में बंपर विकास के पीछे डिजिटल टेक्नोलॉजी का बड़ा योगदान है। रिपोर्ट के अनुसार टूरिज्म सेक्टर में डिजिटल क्रांति जारी है। इंटरनेट और डिजिटल तकनीकि की वजह से पर्यटन क्षेत्र में अपार संभावनाएं पैदा हुई है। युवा ट्रैवल और टूरिज्म व्यवसाय से जुड़े नए-नए स्टार्टअप शुरू कर रहे हैं, यही वजह है कि इस सेक्टर में रोजगार के मौके तेजी से बढ़ रहे हैं। फिक्की की रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि स्मार्टफोन की संख्या बढ़ने और इंटरनेट की पहुंच बढ़ने से देश में युवा पर्यटकों की संख्या में भारी इजाफा हुआ है।
 
 
sanjeevni app

More From editorial

Loading...
Trending Now
Recommended