संजीवनी टुडे

12 देशों के भ्रमण के बाद इंडिया रहकर राइटिग में बनाउंगा कैरियर : सुब्रत सौरभ

संजीवनी टुडे 16-09-2018 19:51:46


जयपुर। कॉलेज के वक्त से शायरियां, कहानियां लिखने का शौक था मगर माता पिता चाहते थे कि मैं यूपीएसई की तैयारी करूं या इंजीनियरिग की पढ़ाई मगर आज वे मेरी किताबों की लोकप्रियता देख कर काफी खुश है। ये कहना था बेस्ट सेलर ऑथर्स में शुमार हुए सुब्रत सौरभ का, वे रविवार को अपनी दूसरी किताब 'एंड वी वॉक्ड़ अवे’ के प्रमोशन के सिलसिले में शहर के रीडर्स से रूबरू हुए।

चैम्प रीडर्स असोसिएशन और क्रॉसवर्ड के संयुक्त तत्वावधान में सी-स्कीम स्थित क्रॉसवर्ड बुक स्टोर में आयोजित हुए इस कार्यक्रम में शहर के यंग ऑथर्स ने बुक रीडिग सेशन का आनंद लिया। सौरभ ने बताया कि 'एंड वी वॉक्ड़ अवे’ उनकी दूसरी बुक है जो की एक रोमांटिक फिक्शन है और 24 अगस्त को इसकी लॉंचिग की गई। 5 सितंबर से 14 सितंबर तक लखनऊ बुक फेयर के पहले ही दिन सभी कोपिज बिक गई साथ ही दिल्ली और मुंबई के बुक फेयर में भी इसे काफी पसंद किया गया। खास कर ऐमजॉन रोमैन्स कैटेगरी में ये बुक टॉप 25 बुक्स में शामिल हो चुकी है। साथ ही प्री ऑर्डर में लगभग 1000  बुक्स सेल हो चुकी थी। 

मेरे कटाक्ष और व्यंग पर लोगों की हंसी ने किया प्रेरित- 

इस दौरान सुब्रत ने सोशल मीडिया पर चिकन बिरयानी नाम से मशहूर होने का किस्सा सुनाते हुए कहा कि पढ़ाई के दौरान मैंने कटाक्ष और व्यंग भरे वन लाइनर्स लिखने शुरू किए जिन्हें मेरे परिवार और दोस्तों ने काफी पसंद किया। मैंने वे सभी सोशल मीडिया पर चिकन बिरयानी नाम से शेयर किया जो कुछ ही समय में नेशनल अखबार और चैनल्स पर चर्चा के विषय बन गए। कॉलेज के समय से ही मुझे ऐसा कुछ लिखते रहने का काफी शौक था, मैं अक्सर शायरियों और कविताओं से अपना मन लगाए रखता था जिससे मुझे किताबें लिखने की प्रेरणा मिली। 
 
पहली किताब से लगा की अब यही है भविष्य-

2017 में आई पहली बुक 'कुछ वो पल’ के बारे में बात करते हुए है सुब्रत कहते है कि मैंने अपनी शायरियों और कविताओं को समेट के इस किताब में उकेरा है। इसे पढ़ के मुझे बॉलीवुड से काफी प्रसंशा मिली। इस दौरान मेरी नॉवल पढ़ कर बॉलीवुड के दिग्गज अनुपम खेर, पीयूष मिश्रा, राहुल महाजन, और जिशान आयुब ने मेरी नॉवल की प्रसंशा करने के साथ मुझसे मुलाकात भी की। वहीं बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन से भी उनके घर जलसा में मुलाकात हुई जहां उन्होंने मुझे खुद के द्बारा ऑटोग्राफ की गई बुक भेंट की।

2.40 लाख में प्लॉट जयपुर: 21000 डाउन पेमेन्ट शेष राशि 18 माह की आसान किस्तों में Call:09314166166

MUST WATCH & SUBSCRIBE

 

साथ ही इंडियन हॉकी टीम की कॉमनवेल्थ गेम मेडलिस्ट पूनम रानी मलिक ने भी नॉवल को काफी पसंद किया। भाभी जी घर पर है की पूरी स्टार कास्ट ने मुझे सेट पर बुला के मुलाकात की। इस सब को देखकर मुझे अपनी दूसरी बुक लिखने की हिम्मत मिली। मैंने 12 देशों का भ्रमण किया है, विप्रों और टीसीएस जैसे कम्पनियों के साथ लम्बे समय तक जुड़ा रहा हूं मगर अब मुझे राइटिग में ही अपना भविष्य बनाना है। 

sanjeevni app

More From editorial

Loading...
Trending Now