संजीवनी टुडे

ये कैसा कानून हैं जहां बलात्कार हाेने के बाद पीडिता काे ही सुनाई सजा

संजीवनी टुडे 25-02-2018 14:49:11

Source: google

नई दिल्ली। दुनिया के कुछ देशों में कई अजीबो गरीब कानून मौजूद हैं। इसी तरह सऊदी अरब का कानून जब सामने आया ताे लाेग जानकर हैरान रह गए। यह अन्याय 19 साल की एक बलात्कार पीड़िता के साथ हुआ। इसमें गैंगरेप के अपराधियों को सजा देने की बजाए पीड़िता को ही 200 कोड़े मारने और छह माह की कैद दी गई।

ये भी देखें: VIDEO : कांग्रेस के विधायक ने दी बरिष्ठ पत्रकार को धमकी, पत्रकारों ने की निंदा

ये बात जानकर आप हैंरान हाे गए हाेगें कि एेसा पीडिता के साथ क्याे हुआ। क्याेंकि सऊदी अरब में एक शरिया कानून चलता है। यहां शरिया के मुताबिक जो महिला अकेले घर से बाहर निकलती है, बाजार आदि जगहों पर अकेले जाती है उसे गुनाह करार दिया जाता है। महिला के अकेले होने पर यदि उसके साथ बलात्कार हो जाता है तो इस अपराध के लिए वह महिला काे ही जिम्मेदार माना जाता है।

दरअसल सऊदी अरब में शरिया कानून चलता है। यहां शरिया के मुताबिक जो महिला अकेले घर से बाहर निकलती है, बाजार आदि जगहों पर अकेले जाती है उसे गुनाह करार दिया गया है। महिला के अकेले होने पर यदि उसके साथ बलात्कार हो जाता है तो इस अपराध के लिए वह मिहला खुद जिम्मेदार मानी जाती है। यहां के कानून के मुताबिक घर के किसी मर्द के बिना यदि औरत बाहर जाती है तो उसे 200 कोड़े मारने और छह माह की सजा दी जाती है।

ये भी देखें: वीडियो : नीरव मोदी की 6 करोड़ की रोल्ज रॉयल समेत 9 महंगी कारें जब्त

इसी कारण रेप में पीड़िता के बलात्कारियों को कोई सजा देने की बजाए पीड़िता को ही सजा दी जाती है। सऊदी अरब में एेसा माना जाता हैं कि यदि अकेले निकलने पर उसके साथ काेई अनहोनी हाेती हैं ताे इसकी जिम्मेदार दे खुद हाेगी। बताया गया है कि यह घटना 2006 की है। जिस वक्त घटना हुई उस वक्त पीड़िता अपनी सहेली के साथ एक कार में थी। तभी कुछ लोगों ने उन पर हमला बोल दिया और उनकी कार को दूर जंगल में ले गए। यहां आरोपियों ने पीड़िता और उसकी सहेली से गैंगरेप किया।बताया जा रहा है कि घटना के बाद जब पीड़िता ने अदालत ये इंसाफ मांगा तो शुरू में उसे 90 कोड़े मारने की सजा दी गई और आरोपियों को कुछ समय के लिए ही हिरासत में लिया गया। 

WATCH VIDEO

इस पर पीड़िता के वकील ने आपत्ति जताई और फैसले के खिलाफ अदालत में फिर से याचिका दायर की। जब फिर से मामले की सुनवाई हुई तो कोर्ट ने पीड़िता को मिली सजा दोगुनी कर दी और बलात्कारियों को बाइज्जर बरी कर दिया गया। अदालत ने अब 200 कोड़े मारने की सजा दी और गलत तरीके से मीडिया में मुंह खोलने के लिए छह माह की सजा भी सुनाई।

Rochak News Web

More From crime

Trending Now
Recommended