संजीवनी टुडे

परिवार को 50 लाख दिलाने के लिए फाइनेंसर ने रची बड़ी साजिश, सुपारी देकर करवा ली खुद की हत्या, 2 गिरफ्तार

संजीवनी टुडे 10-09-2019 19:44:59

भीलवाड़ा एसपी हरेंद्र महावर ने बताया कि 3 सिंतबर को फाइनेंसर बलबीर खारोल नाम के व्यक्ति की लाश गुवारड़ी नाले में मिली थी।


भीलवाड़ा। राजस्थान के भीलवाड़ा में आर्थिक तंगी से परेशान फाइनेंसर ने खुद की हत्या करवा ली। उसने यह कदम इसलिए उठाया ताकि उसके बीमा के 50 लाख रुपए परिवार को मिल जाएं। यही नहीं फाइनेंसर ने 80 हजार रुपए में अपनी हत्या की सुपारी दी थी। पुलिस ने सोमवार को हत्याकांड में शामिल दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

यह खबर भी पढ़े:पाकिस्तान ने यूएनएचआरसी से मागी मदद, कहा- कश्मीर से कर्फ्यू हटाने की भारत से करे अनुरोध

भीलवाड़ा एसपी हरेंद्र महावर ने बताया कि 3 सिंतबर को फाइनेंसर बलबीर खारोल नाम के व्यक्ति की लाश गुवारड़ी नाले में मिली थी। उसके हाथ-पैर बंधे थे। मुंह पर पॉलीथीन बंधी थी। मृतक के भाई की तहरीर पर मांगरोल थाने में हत्या का मुकदमा दर्जकर जांच शुरू की गई। जांच के दौरान पुलिस ने दो आरोपियों राजवीर और सुनील यादव को गिरफ्तार किया। राजवीर फाइनेंसर के साथ साझेदारी में में ढाबा भी चलाता था। आरोपियों ने पूछताछ के दौरान सुपारी लेकर हत्या की बात कबूल कर ली।

पुलिस की पड़ताल में भी मृतक पर कर्ज की बात सामने आई थी। पुलिस ने जब गहराई से जांच की तो पता चला कि मृतक बलबीर ने 3 अगस्त को 50 लाख रुपए का बीमा करवाया था। इसका 5,832 रुपए का प्रीमियम भी जमा करवाया था। इस बीमा का दावा 28 अगस्त से शुरू होना था। ऐसे में फाइनेंसर ने 2 सितंबर को अपनी हत्या करवाने की साजिश रची।

पुलिस के मुताबिक, 2 अगस्त को दोनों हत्यारोपी बलबीर को बाइक पर गुवारड़ी नाले पर ले गए। वहां उसने अपने पैर बांध लिए और फिर आरोपी सुनील से हाथ बंधवाए। इसके बाद राजवीर से रस्सी से गला घोंटने को कहा। हत्या के बाद आरोपी शव को वहीं फेंककर चले आए थे। पुलिस ने यह भी बताया कि मृतक ने राजवीर को 80 हजार रुपए देने का लालच दिया था। 10 हजार रुपए एडवांस में भी दिए थे।

यह खबर भी पढ़े: UNHRC: पाकिस्तान ने भी कबूला कश्मीर को 'भारतीय राज्य', विदेश मंत्री कुरैशी ने कही ये बात... देखें VIDEO

पुलिस ने बताया कि बलबीर ने करीब 20 लाख रुपए लोगों को ब्याज पर उधार दिया। लेकिन, पैसा वापस नहीं मिल पा रहा था, जिस कारण वह आर्थिक तंगी में आ गया था। परिवार पालने का उसे कोई रास्ता नहीं सूझा तो अपना बीमा करवाकर हत्या की साजिश रची। ताकि मौत के बाद पत्नी और बेटे को रुपए मिल जाए। 

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From crime

Trending Now
Recommended