संजीवनी टुडे

अपहृत संतोष के इंतजार में परिजनों की आंखें पथराईं

संजीवनी टुडे 08-06-2019 18:12:34

सारण जिले के रिविलगंज थाना क्षेत्र के कचनार गांव से अपहृत सीवान एमएच नगर थाना के रजनपुरा निवासी गिट्टी व्यवसायी संतोष चौधरी की बरामदगी के इंतजार में परिजनों की आंखें पथराने लगी हैं। गिट्टी व्यवसायी का सुराग पुलिस को नहीं मिल सका है ।


छपरा। सारण जिले के रिविलगंज थाना क्षेत्र के कचनार गांव से अपहृत सीवान एमएच नगर थाना के रजनपुरा निवासी गिट्टी व्यवसायी संतोष चौधरी की बरामदगी के इंतजार में परिजनों की आंखें पथराने लगी हैं। गिट्टी व्यवसायी का सुराग पुलिस को नहीं मिल सका है । उसका अपहरण पांच दिन पहले हुआ था । अपहरण के बाद पीड़ित परिवार काफी सदमे में है। संतोष के आने के इंतजार में पत्नी रिंकू देवी व उनके बच्चों सहित अन्य परिजनों की आंखें पथरा गयी हैं।  परिजनों ने बताया कि तीन जून को सुबह सात बजे अपनी नैनो कार बीआर 01-बीजी/1171 से 1.25 लाख रुपये गिट्टी व्यवसायी को देने के लिये लेकर निकले थे, लेकिन संतोष ने 3: 54 बजे अपनी पत्नी को फोन पर बताया कि जिसको रुपए देना था, वह बुलाकर कहीं चला गया है। 

इसलिये वह रुपये लेकर वापस लौट रहा है। कुछ घंटे बाद जब संतोष घर नहीं लौटा तो, शाम पांच बजे फोन किया गया तो, मोबाइल कवरेज एरिया से बाहर बताने लगा । परिजन अपहरण के अंदेशे से सहम गये। पुन:अगले दिन जब व्यवसायी के पास जाकर पता किया गया तो, उसने कहा वह पहले आते थे, लेकन अब नहीं आते हैं। फिर रिविलगंज थाने गये तो, वहां देखा कि संतोष की नैनो कार खड़ी है। पुलिस से पूछताछ करने पर पता चला कि तीन जून की देर शाम गश्ती के दौरान लवारिस हालत में कचनार चंवर से नैनो व सैंडिल चप्पल बरामद हुई है। तत्पश्चात परिजनों ने पुलिस को सारी बात बताकर अज्ञात के खिलाफ रिविलगंज थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी है। संतोष चौधरी दो भाई बहनों में सबसे बड़े हैं । छोटी बहन की शादी कोलकाता में हुई है । 

पिछले दस -बारह साल से रजनपुरा काली स्थान के निकट विवेक ट्रेडर्स नामक दुकान चलाकर परिवार का भरण पोषण करते हैं। संतोष के दो पुत्र व एक पुत्री हैं उनके नाम  विवेक कुमार (14), प्रियांशी (10) व हिमांशु (7) हैं। घर में दो चचेरे  भाइयों यथा पप्पू व मुकेश का तीन जून को तिलक समारोह होने के कारण संतोष की पत्नी रिंकू देवी ने अपने पति से कहा कि आज नहीं जाइये। कल जाकर पैसा दे दिजियेगा, लेकिन संतोष ने अपनी पत्नी को आश्वस्त किया कि शाम को तिलक है। हम समय से लौट आएंगे । घर से मुकेश चौधरी की बारात 10 जून तथा पप्पू चौधरी की बारात 19 जून को जायेगी । इस बीच संतोष चौधरी के अपहरण की घटना के पश्चात शादी की खुशी फीकी पड़ गयी है ।

मात्र 220000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314188188

More From crime

Trending Now
Recommended