संजीवनी टुडे

बासौली गांव में हुए खूनी संघर्ष के चलते तनाव, पीएसी बल तैनात

संजीवनी टुडे 02-06-2020 14:00:05

बासौली गांव में हुए खूनी संघर्ष के चलते तनाव, पीएसी बल तैनात


बड़ौत। बागपत जिले के रमाला थाना क्षेत्र के बासौली गांव भाजपा नेता के पुत्र की हत्या के बाद गांव में तनाव की स्थिति बनी हुई है। गांव में पुलिस व पीएसी बल तैनात कर दिया गया है। मंगलवार की सुबह तक तीनों शवों को पोस्टमार्टम नहीं हुआ था। किशोर के शव के पोस्टमार्टम के लिए उसके परिजन जिला अस्पताल बागपत में मौजूद हैं। हमलावर पक्ष के लोग दोनों शवों का पोस्टमार्टम कराने जिला अस्पताल नहीं आए। 

वारदात को लेकर बसौली गांव में तनाव है और पीएसी-पुलिस बल तैनात है। बसौली गांव में मारे गए किशोर तथा मारे गए दो हमलावरों के शवों का आज अंतिम संस्कार होगा। एसपी प्रताप गोपेंद्र यावद ने बताया कि फरार हत्यारोपितों की तलाश में पुलिस की टीमें दबिश दे रही हैं। इस मामले में कई युवकों से पूछताछ की जा रही है। 

उल्लेखनीय है कि बसौली में आटे को लेकर हुए विवाद में आटा चक्की चला रहे किशोर शेखर पर गांव के निशांत ने बदमाशाें के साथ हमला किया था। इसमें चक्की मालिक प्रकाश के पुत्र सुमित, पुनीत व पड़ोसी सोहन सिंह घायल हो गए थे जबकि गोली लगने से भाजपा नेता पदम सिंह के पुत्र शेखर की गोली लगने से मौत हो गई थी। ग्रामीणों ने भाग रहे दो बदमाशों को घेर पर पीट-पीटकर मार डाला था। 

आईजी प्रवीण कुमार व एसपी प्रताप गोपेन्द्र यादव ने गांव पहुंचकर मामले की जानकारी हासिल की थी। साथ ही फरार हमलावरों की गिरफ्तारी के लिए टीम गठित करने के आदेश दिए थे। पुलिस ने हमलावरों में दो मारे गए युवकों की शिनाख्त कराई। इसमें एक की शिनाख्त 16 वर्षीय गोली पुत्र दीपक निवासी सूप तथा दूसरे की शिनाख्त 22 वर्षीय सचिन पुत्र धर्मेन्द्र निवासी दोघट के रूप में हुई थी। उधर भाजपा नेता पदम सिंह ने नामजद और अज्ञात में तहरीर दी। रमाला पुलिस ने हत्याकांड में पिता की तहरीर पर नौ नामजद तथा 22 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। 

यह खबर भी पढ़े: अमिताभ बच्चन ने शेयर की अपने पिता की कविता, आज के समय में यह प्रासंगिक है

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From crime

Trending Now
Recommended