संजीवनी टुडे

पुल‍िस ने सुलझा मौत का रहस्‍य, चचेरा भाई ही न‍िकला डॉक्‍टर का हत्‍यारा

संजीवनी टुडे 31-05-2019 17:36:49


धमतरी। धमतरी में डाॅक्टर की मौत का रहस्‍य पुल‍िस ने सुलझा ल‍िया है। डाॅक्टर की हत्यारा उसका अपना ही चचेरा भाई निकला है। पैसों के लेन-देन के चलते इस हत्या की वारदात को अंजाम दिया था। आरोपी ने हत्या करने के बाद घर में रखे सोने चांदी, नगदी समेत मोबाईल फोन लेकर वहां से फरार हो गया था। धमतरी पुलिस ने शुक्रवार को इस मामले का खुलासा किया है। घटना धमतरी के श्याम रेसीडेंसी गुजराती कालोनी का है। डाॅ प्रभाकर राव वाघटकर एक किराये के मकान में रहता था, डाक्टर की हत्या 22 मई को हुई थी। हत्या के बाद लूट की वारदात हुई थी। हत्या एक नामचीन डाॅक्टर की हुई थी, लिहाजा पुलिस हत्या की सूचना मिलते ही हरकत में आ गयी। घटना की गंभीरता देखते हुये आईजी आनंद छाबड़ा के निर्देश पर एस पी बालाजी राव ने एडिशन एसपी के पी चंदेल ,सीएसपी पंकज पटेल के निर्देशन में एक विशेष टीम का गठन किया। पुलिस की टीम ने घटना वाली जगह में लगे सारे सीसीटीवी को खंगालना शुरू किया। टीम ने आसपास के लोगों से भी पूछताछ की। 

उस दौरान पुलिस की टीम को सूचना मिली कि मृतक प्रभाकर के यहां उसके चचेरे भाई विशाल का आना जाना था। 20 मई की रात को दोनों के बीच काफी विवाद और गाली-गलौज भी हुआ था, जिसके बाद विशाल वहां से चला गया था। जानकारी के बाद पुलिस की टीम ने विशाल को गिरफ्तार कर उससे पूछताछ शुरू की। पहले तो विशाल पुलिस को गुमराह करता रहा और जब उससे कड़ाई से घटना के बारे में पूछा गया तो आरोपी ने कबूल किया कि उसी ने ही अपने भाई प्रभाकर की हत्या की थी। विशाल ने पुलिस पूछताछ में बताया कि उसने अपने भाई डाॅ प्रभाकर को प्रापर्टी में इन्वेस्ट करने के नाम पर 12 लाख 50 हजार रुपये दिये थे। उसी पैसे को वापस मांगने के लिए डाॅ प्रभाकर के यहां आता जाता रहता था। विशाल 20 मई की रात भी मृतक डाॅ. प्रभाकर के घर पर आया था। वहां पर दोनों की जमकर विवाद भी हुआ था। मृतक ने गाली-गलौज करते हुये डांट फटकार के अपने घर से भगा दिया था। गुस्सा होकर विशाल ने प्रभाकर की हत्या करने की योजना बनाई। 22 मई की रात एक चाकू लेकर रायपुर से अपने दोस्त की स्कूटी से प्रभाकर के घर धमतरी पहुंचा। रात नौ से दस बजे के बीच पैसे को लेकर फिर दोनों में विवाद हुआ। 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

प्रभाकर ने विशाल से गाली गलौज करते हुये कहा कि “भिखारी कहीं का तेरा पैसा नहीं वापस करूंगा चल भाग यहां से। इस पर विशाल वाघटकर आक्रोशित होकर अपने पास रखे चाकू से ताबड़तोड़ हमला शुरू कर दिया। हमले में प्रभाकर की मौके पर ही मौत हो गयी। मृतक की लाश को बाथरूम में रखकर लाॅकर में रखा सोना चांदी लेकर वहां से फरार हो गया था। जिसके बाद पुलिस ने आरोपित  को गिरफ्तार किया है। आरोपितके पास से नगदी, घटना में उपयोग की गई चाकू, स्कूटी और सोने-चांदी के जेवरात जब्त किया गया है। इस मामले में एसपी बालाजी राव ने प्रेस कांफ्रेंस में जानकारी दी कि विशाल के पिता सीएसबी कोरबा में भृत्य थे। रिटायर्ड होने के बाद अलग अलग किस्तों में 30 लाख रुपये विशाल के पिता को मिला था। खाते में जमा राशि के एटीएम को विशाल ही उपयोग करता था। आरोपी ने अपने एकाउंट में रखे आधे से ज्यादा पैसों को खर्च कर दिया था । परिवार वाले बार- बार विशाल को पैसे वापस करने की बात करते। जिससे विशाल काफी परेशान था।  आरोपित  ने अपने एकाउंट से 12 लाख रुपये प्रभाकर को भी दिये थे। जब इन पैसो की मांग विशाल करने लगा तो प्रभाकर उसे डांट फटकार करते हुये भगा देता था। इस वजह से विशाल ने प्रभाकर की हत्या कर दी ।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314188188

More From crime

Trending Now
Recommended