संजीवनी टुडे

पड़ोसी ने बच्ची का अपहरण कर की हत्या, बच्ची का शव लेने से परिवार ने किया इंकार

संजीवनी टुडे 14-03-2019 22:46:26


पानीपत। पानीपत के चढाऊ मोहल्ले में पड़ाेसी ने तीन साल की बच्ची का अपहरण कर उसकी गला दबा कर हत्या कर दी। आरोपित, बच्ची का शव अपने घर में छोड़कर फरार हो गया। बच्ची के साथ दुष्कर्म हुआ है या नहीं इसका पता एफएसएल की रिपोर्ट आने पर ही पता चल पाएगा। 

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

पुलिस ने बृहस्पतिवार की देर शाम बच्ची के शव का पोस्टमार्टम करवा दिया, बच्ची की हत्या गला दबा कर की गई है। जबकि पीड़ित परिवार ने पोस्टमार्टम के बाद बच्ची का शव लेने से इंकार करते हुए पुलिस को चेतावनी दी है कि आरोपित की गिरफ्तारी के बाद ही वे, बच्ची के शव की अंत्येष्टि करेंगे। करनाल रेंज के आईजी योगेंद्र नेहरा व एसपी सुमित कुमार, सिविल अस्पताल पहुंच कर पीड़ित परिवार से मिले। पीड़ित परिवार बच्ची के हत्यारोपित की गिरफ्तारी पर अड़ा हुआ है।

राजू पुत्र किशनलाल निवासी चढाऊ मोहल्ला, पानीपत की तीन वर्षीय पुत्री आरती गुरुवार की दोपहर को खेलते समय अचानक लापता हो गई। परिजनों ने आरती की तलाश की, लेकिन उसका कोई सुराग नहीं लगा। आरती की तलाश के दौरान पडोस में रहने वाली एक महिला ने बताया कि उसने आरती को पड़ाेसी राजेश पुत्र भगतराम के साथ देखा था। 

पीड़ित परिवार, पड़ोसी राजेश के घर पहुंचा और आरती के बारे में जानकारी मांगी, राजेश ने आरती के बारे में जानकारी होने से इंकार कर दिया, वहीं राजू को राजेश पर शक हो गया और वह जबरन राजेश के घर में घुस गया, जबकि राजेश मौके से फरार हो गया। राजेश के घर के दूसरे कमरे में आरती बेसुध हालत में पड़ी मिली। आरती को तत्काल सिविल अस्पताल लाया गया। यहां मेडिकल जांच के बाद डॉक्टरों ने आरती को मृत घोषित कर दिया। 

घटना की सूचना मिलने पर थाना किला पुलिस व एफएसएल की टीम ने घटनास्थल की गहन जांच की। पुलिस ने जांच पूरी होने के बाद आरती के शव का पंचनामा भर पोस्टमार्टम करवाया। इधर, पुलिस की जांच में पता चला कि राजेश भी रेहड़ी पर सामान बेच कर जीवन यापन कर रहा है और वह गुरुवार को घर पर अकेला था, उसकी पत्नी अपने बच्चों को लेकर मायके गई हुई है। आरोपित राजेश ने आरती का अपहरण किसी इरादे से किया और उसकी हत्या क्यों की इसकी जानकारी राजेश की गिरफ्तारी के बाद ही पता चल पाएगी।

पुलिस की जांच में आरती के गले पर खरौंच के निशान मिले हैं। जबकि आरती का अपहरण कर हत्या करने के केस को करनाल रेंज के आइजी योगेंद्र नेहरा व एसपी सुमित कुमार ने गंभीरता से लिया और दोनों पुलिस अधिकारी सिविल अस्पताल पहुंचे। पीड़ित परिवार से मिले। पीड़ित परिवार ने आइजी व एसपी को पूरे मामले की जानकारी दी। 

आरती के शव का अंतिम संस्कार करने से इंकार करते हुए कहा कि जब तक पुलिस आरोपित राजेश को गिरफ्तार नहीं कर लेगी तब तक आरती के शव की अंत्येष्टि नहीं की जाएगी। पुलिस अधिकारियों के कड़े प्रयास के बाद भी आरती के परिजन अपनी बेटी का शव लेने को तैयार नहीं हुए। पुलिस की जांच में पता चला कि राजू के एक पुत्र व पुत्री है। राजू रेहड़ी पर सामान बेच कर अपना व अपने परिवार का पेट पाल रहा है। गुरुवार को बेटी आरती के साथ हुई घटना से पूरा परिवार कराह उठा। 

MUST WATCH & SUBSCRIBE

दूसरी ओर, एसपी सुमित कुमार ने बताया कि आरती हत्याकांड का उन्हें भी दुख है और आरती के हत्यारोपित की सरगर्मी से तलाश की जा रही है। आरोपित को जल्द गिरफ्तार किया जाएगा। डीएसपी सुतीश वत्स ने बताया कि राजू की शिकायत पर उसकी बेटी आरती की हत्या के आरोप में पड़ोस में निवास कर रहे राजेश के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। आरोपित फरार है और पुलिस की कई टीमें आरोपित की तलाश कर रही है, जल्द ही आरोपित को गिरफ्तार किया जाएगा। 

More From crime

Trending Now
Recommended